Press "Enter" to skip to content

इस वर्ष भारत से रिकॉर्ड संख्या में होगी  हज यात्रा, हज सब्सिडी के बिना भी हवाई यात्रा पर कम होगा खर्चाः नकवी

नई दिल्ली

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि हज सब्सिडी खत्म किये जाने बावजूद इस बार हजयात्रियों की हवाई यात्रा पर पिछले साल के मुकाबले 57 करोड़ रुपये कम खर्च होंगे।

हज कोऑर्डिनेटर, असिस्टेंट हज ऑफिसर, हज असिस्टेंट के प्रशिक्षण शिविर कार्यक्रम में नकवी ने कहा कि 2017 में 1 लाख 24 हजार 852 हजयात्रियों के लिए 1030 करोड़ रूपए एयरलाइन्स कंपनियों को हवाई किराये के रूप में दिए गए थे जबकि 2018 में हज कमेटी के माध्यम से जाने वाले 1 लाख 28 हजार 702 हजयात्रियों के लिए 973 करोड रूपए दिए जायेंगे जो पिछले वर्ष के मुकाबले 57 करोड़ रूपए कम है। नकवी ने कहा कि इस वर्ष हज के लिए कुल 3 लाख 55 हजार 604 आवेदन प्राप्त हुए। जिनमे 1 लाख 89 हजार 217 पुरुष और 1 लाख 66 हजार 387 महिलाएं शामिल हैं। उन्होंने कहा कि भारत से पहली बार मुस्लिम महिलाएं बिना ष्मेहरमष् (पुरुष रिश्तेदार) के हज पर जा रही हैं। बिना ष्मेहरमष् के हज पर 1308 महिलाएं जा रही हैं। नकवी ने कहा कि पहली बार हज यात्रियों को अपने मूल इम्बार्केशन पॉइंट (प्रस्थान स्थल) के अलावा किसी एक अन्य इम्बार्केशन पॉइंट से भी जाने की सुविधा दी गई है जिसके उत्साहजनक नतीजे आए हैं।

मंत्री ने कहा कि हज सब्सिडी खत्म होने और सऊदी अरब में विभिन्न नए करों के बावजूद आजादी के बाद पहली बार सबसे ज्यादा भारतीय मुस्लिम 2018 में हज यात्रा करेंगे। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद पहली बार भारत से रिकॉर्ड 1 लाख 75 हजार 25 मुसलमान हज 2018 के लिए जायेंगे। इस वर्ष हज पर जाने वालों में रिकॉर्ड 47 प्रतिशत से ज्यादा महिलाएं शामिल हैं।

नकवी ने कहा कि हज सब्सिडी खत्म होने और सऊदी अरब में विभिन्न करों में वृद्धि के बावजूद भारत से जाने वाले हज यात्री पर कोई नाजायज बोझ नहीं पड़ने दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अहमदाबाद से 6700, औरंगाबाद से 350, बेंगलुरु से 5550, भोपाल से 254, कोचीन से 11700, चेन्नई से 4000, दिल्ली से 19000, गया से 5140, गोवा से 450, गुवाहाटी से 2950, हैदराबाद से 7600, जयपुर से 5500, कोलकाता से 11610, लखनऊ से 14500, मंगलौर से 430, मुंबई से 14200, नागपुर से 2800, रांची से 2100, श्रीनगर से 8950, वाराणसी से 3250 लोग इस वर्ष हर्ष पर जा रहे हैं, जो अब तक की रिकॉर्ड संख्या होगी। नकवी के अनुसार 14 जुलाई 2018 को दिल्ली, गया, गुवाहाटी, लखनऊ और श्रीनगर से हज यात्री रवाना होंगे। 17 जुलाई 2018 को कोलकाता से, 20 जुलाई को वाराणसी से, 21 जुलाई को मंगलोर से, 26 जुलाई को गोवा से, 29 जुलाई को औरंगाबाद, चेन्नई, मुंबई, नागपुर से, 30 जुलाई को रांची से, 01 अगस्त को अहमदाबाद, बंगलुरु, कोच्चि, हैदराबाद, जयपुर से और 03 अगस्त को भोपाल से हज यात्री रवाना होंगे।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.