Press "Enter" to skip to content

मानेसर लैंड डील : खेमका ने हुड्डा के साथ वाड्रा पर भी साधा निशाना

चंडीगढ़।

ईमानदारी के चलते राज्य की सरकारों की आंखों की किरकिरी बने और एक के बाद एक तबादलों के लिए चर्चित हरियाणा कॉडर के सीनियर आईएएस अशोक खेमका ने मानेसर लैंड डील में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को `लैंडमार्क डिसीजन` कहते हुए सराहना की है। इसके साथ ही उन्होंने ट्वीट कर इस केस के साथ स्काइकाइट-डीएलएफ केस पर भी टिप्पणी कर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और रॉबर्ट वाड्रा पर निशाना साधा।

हाल ही में रिटायर हुए हरियाणा के ही एक अन्य चर्चित आईएएस प्रदीप कासनी ने फेसबुक पर लिखा है, “ मानेसर ज़मीन घोटाला केवल 33.55 एकड़ का है परन्तु “मौके की” कीमती जगह होने से कोई 128 करोड़ की पैसाख़ोरी किसान भूस्वामियों की छीनझपट व अफ़सराना ज़ोराज़ोरी से की गयी। हुकूमत के शीर्ष पर बैठे लोग मोटी रिश्वत के बग़ैर इतनी बड़ी लूट क्यों होने देते? ऐसे में माननीय सुप्रीम कोर्ट के अच्छे और बड़े फ़ैसले के बावजूद मामला तो अभी बाक़ी है। देखिये जाँच होती है या सौदेबाज़ी॥“ गौरतलब है कि कासनी रेकॉर्ड तबादले झेलकर रिटायर हुए हैं।

कासनी ने हुड्डा सरकार के दौरान एक फैसले को नियमविरुद्ध बताकर मानने से इंकार कर दिया था तो भाजपा ने उसे हाथोंहाथ लिया था। हरियाणा विधानसभा के भाजपा चुनाव प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय उनसे मिलने भी पहुंचे थे। हरियाणा में भाजपा की सरकार बनी तो जल्द ही कासनी वहां भी `मिसफिट` हो गए और तबादलों पर तबादले झेलते हुए ऐसे विभाग से रिटायर हुए जो अस्तित्व में ही नहीं था।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.