Press "Enter" to skip to content

फिल्म एक्टर सलमान को सजा मिलने के बाद इंदौर के पुश्तैनी घर पर मायूसी

इंदौर।

जोधपुर की अदालत द्वारा सलमान खान को काला हिरण शिकार मामले में गुरुवार को पांच साल कारावास की सजा सुनाए जाने के बाद 52 वर्षीय बॉलिवुड ऐक्टर की जन्मस्थली इंदौर में उनके प्रशंसक मायूस हो गए।

सलमान खान फैन क्लब के प्रमुख युवराज मंडलोई ने कहा, ‘कानून सबके लिए बराबर है और हम अदालत के फैसले का सम्मान करते हैं। हालांकि, हम ईश्वर से प्रार्थना करेंगे कि सलमान को राजस्थान की ऊपरी अदालत से मामले में जल्द से जल्द राहत मिले।’

मंडलोई ने कहा, ‘हम उम्मीद कर रहे थे कि  सलमान खान मामले में बरी हो जाएंगे। हमने जश्न की तैयारी भी कर ली थी लेकिन ईश्वर ने आज हमारी दुआएं कबूल नहीं कीं।’ उन्होंने बताया कि सलमान खान फैन क्लब में करीब 425 सदस्य हैं, जो सलमान की हर नई फिल्म देखने एक साथ सिनेमाघर जाते हैं। सलमान का जन्म 27 दिसम्बर 1965 को इंदौर के कल्याणमल नर्सिंग होम में हुआ था।

बताया जाता है कि मुंबई में जा बसने से पहले उनका परिवार इंदौर के ओल्ड पलासिया इलाके के पुश्तैनी मकान में रहता था। इस पॉश इलाके में उनके कुछ नजदीकी रिश्तेदार आज भी रहते हैं।

बता दें कि यह मामला सितंबर 1998 का है। आरोप है कि फिल्म ‘हम साथ साथ हैं’ की शूटिंग के दौरान सैफ अली खान, तब्बू और सोनाली बेंद्रे के साथ सलमान खान ने राजस्थान में जोधपुर के पास कांकणी गांव में दो काले हिरणों का शिकार किया था।

सरकारी वकील के मुताबिक, उस रात सारे कलाकार जिप्सी में सवार थे, जिसे सलमान खान चला रहे थे। हिरणों का झुंड देखने पर उन्होंने गोली चलाई और उनमें से दो हिरण मार दिए थे। उन्होंने कहा कि जब लोगों ने उन्हें देखा और उनका पीछा किया, तो ये कलाकर मृत हिरणों को मौके पर छोड़कर भाग खड़े हुए। इसी मामले में गुरुवार को जोधपुर सेशंस कोर्ट ने सलमान को 5 साल जेल और 10 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई है।

Reported by : Deepu shukla

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.