Press "Enter" to skip to content

भोपाल नगर निगम का 50 करोड़ घाटे का बजट पेश, इलेक्शन ईयर में नया टैक्स नहीं, कांग्रेस पार्षदों का जोरदार हंगामा

भोपाल।

मेयर आलोक शर्मा ने भोपाल नगर निगम का 2018-19 का बजट आज शनिवार को पेश किया। 50 करोड़ घाटे के इस बजट में इलेक्शन ईयर के चलते कोई नया टैक्स नहीं लगाया गया। बजट पेश करने के दौरान ट्रेजरी और विपक्ष बेंचों ने लगातार हंगामा और टोकाटोकी करी। हनुमान जयंती पर नगर निगम का बजट पेश करने के दौरान कांग्रेस पार्षदों ने जोरदार हंगामा किया।

पेश किए गए बजट के मुताबिक नगर निगम की कुल आमदनी 19 अरब 95 करोड़ 94 लाख 72 हजार है। जबकि खर्चा भी उतना ही बताया गया है जितने की आमदनी है। निगम का कुल घाटा 50 करोड़ 89 लाख 29 हजार आंका गया है।

बजट में 342 एकड़ में स्मार्ट सिटी बनाने का प्रस्ताव, 39 करोड़ रुपए की लागत से रानी कमलावती आर्च ब्रिज का​ निर्माण, 17 करोड़ की लागत से एन्क्यूपेशन सेंटर का निर्माण, विकास कार्यों के चलते 299 करोड़ रुपए की लागत से एकीकृत कमांड एंड कंट्रोल सेंटर बनाए जाने बजट के खास मुद्दे हैं।

कांग्रेस पार्षदों द्वारा बजट के विरोध में किए गए हंगामे के चलते बहुमत के आधार पर बजट पास किया गया। साथ ही बहुमत के आधार पर ही सभी प्रस्तावों पर मंजूरी मिल गई।

इस बीच आज हनुमान जयंती पर नगर निगम का बजट पेश करने के दौरान कांग्रेस पार्षदों ने जोरदार हंगामा किया। कांग्रेस पार्षदो का कहना था कि आज हनुमान जयंती पर ही बजट क्यो पेश किया जा रहा है।

आज हनुमान जयंती के मौके पर भोपाल नगर निगम का बजट पेश किया जा रहा था इस बीच कांग्रेस पार्षदो ने जमकर हंगामा किया, उनका कहना था कि आज हनुमान जयंती पर ही बजट क्यो पेश किया जा रहा है, इस के चलते कांग्रेस विरोध को लेकर कांग्रेस पार्षद ने हनुमान जी की मूर्ति लेकर सदन में पहुचे एवम पूजा अर्चना कि इसके बाद सदन में हंगामा कर दिया। वही महापोर आलोक शर्मा ने नेता प्रतिपक्ष मोहम्मद सगीर पर धर्म का अपमान करने का आरोप लगाया।

महापौर आलोक शर्मा ने कांग्रेस पार्षदों को समझाने कि कोशिश भी कि उन्होंने कहा कि हिन्दू देवी-देवताओं का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि हनुमान जयंती का दिन हमे बेहतर काम करने के लिए प्रेरित करता है, इसलिए बजट पर चर्चा करने पर कोई बुराई नहीं है। आलोक शर्मा ने नेता प्रतिपक्ष मोहम्मद सगीर के डेस्क पर रखी हनुमान जी कि मूर्ति उठाते हुए कहा कि सदन में पूजा पाठ करना भगवान का अपमान है।

वहीं कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी को हिंदुओ की चिंता होती तो हनुमान जयंती के दिन बैठक नहीं होती इसके बाड कांग्रेस पार्षद नगर निगम अध्यक्ष और महापौर की चेयर के पास चले गए और घेरकर नारेबाजी करते रहे. कांग्रेस पार्षद गिरीश शर्मा, अमित शर्मा, गुड्डू चौहान, मोनू सक्सेना आदि ने कहा कि हनुमान जयंती पर बजट बैठक औचित्यहीन है।

reported by : deepu shukla

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.