Press "Enter" to skip to content

मध्य प्रदेश : सीबीआई करेगी पत्रकार की मौत की जांच, मुख्यमंत्री ने की घोषणा

भोपाल (दीपू शुक्ला)।

भिंड जिले के पत्रकार संदीप शर्मा की मौत, हत्या है या हादसा। अब इसकी जांच सीबीआई करेगी। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मामले की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो  (सीबीआई) से  कराने की घोषणा कर दी है। उन्होंने सोमवार को ही इस मामले को गंभीरता से लेते हुए कहा था कि पत्रकारों की सुरक्षा सरकार के लिए सर्वोपरि है। दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। विपक्षी कांग्रेस के नेता व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और छिंदवाड़ा सांसद कमलनाथ ने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए सीबीआई से कराने की मांग की थी।

-पत्रकार संदीप शर्मा के चाचा शिवनाथ शर्मा ने ट्रक से कुचलकर मौत का मामले में सीबीआई जांच कराए जाने की घोषणा के बाद सीएम शिवराज सिंह को बधाई दी है। साथ ही मृतक पत्रकार की पत्नी को सरकारी नौकरी ओर 25 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग की है।

-वहीं, अटेर से कांग्रेस विधायक हेमंत कटारे ने सीएम शिवराज सिंह को पत्र लिखकर पत्रकार संदीप शर्मा मौत मामले में सीबीआई जांच के आदेश पर किया आभार जताया और उनकी पत्नी को शासकीय नौकरी ओर 1 करोड़ की आर्थिक सहायता देने की मांग की है। इधर, पुलिस पत्रकार संदीप शर्मा की ट्रक से कुचलकर मौत का मामले में ट्रक मालिक भास्कर शर्मा, और ट्रक चालक रामवीर यादव से पूछताछ कर रही है।

1) संदीप ने कहा था हो सकती है हत्या

– रेत माफिया और पुलिस के गठजोड़ का खुलासा करने वाले पत्रकार संदीप शर्मा को सोमवार की सुबह अजाक थाने के सामने एक ट्रक ने कुचल दिया था। इससे संदीप की मौके पर ही मौत हो गई। संदीप के परिजन का कहना है कि पुलिस और रेत माफिया के गठजोड़ को उजागर करने के बाद धमकियां मिलने लगीं थीं। इसके बाद उन्होंने चार महीने पहले ही स्वयं की हत्या और एक्सीडेंट होने की आशंका जताई थी। इस संबंध में प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और डीजीपी को पत्र लिखकर सुरक्षा की मांग की थी। लेकिन उन्हें सुरक्षा मिली नहीं थी।

2) पुलिस अफसर का किया था स्टिंग

संदीप शर्मा ने रेत माफिया और पुलिस के गठजोड़ को उजागर करने वाला स्टिंग ऑपरेशन किया था। इससे तत्कालीन एसडीओपी इंद्रवीर सिंह फंस गए थे और मुश्किल में आ गए थे। इसके बाद से ही संदीप शर्मा को जान से मारने की धमकियां मिली थीं, जिसकी उन्होंने आईजी से शिकायत भी की थी। संदीप के परिजनों ने इसे हत्या करार दिया था, उन्होंने एसडीओपी इंद्रवीर सिंह पर हत्या के आरोप लगाए थे।

3)पहले एसआईटी को दी गई थी जांच

-इस मामले को लेकर एसपी भिंड ने एसआईटी का गठन कर मामले की जांच शुरू कर दी थी। हालांकि आईजी लॉ एंड ऑर्डर मकरंद देउस्कर ने इसे हादसा ही मान रहे थे। लेकिन संदीप शर्मा के एक्सीडेंट की सीसीटीवी फुटेज में साफ तौर पर ट्रक से कुचल देने का मामला सामने आया था।

4) गैराज से ट्रक बरामद, चालक भी गिरफ्तार

संदीप को कुचलने के बाद पुलिस ने तत्काल ट्रक एमपी 07 एचबी 4164 पकड़ने के लिए शहर में नाकेबंदी करा दी। पुलिस ने ट्रक को घटनास्थल के समीप के गैराज पर तलाशा तो ट्रक खुला हुआ मिला। पुलिस ने ट्रक को जब्त कर लिया है। वहीं दोपहर बाद उक्त ट्रक के चालक रणवीर यादव निवासी गढूपुरा को भी गिरफ्तार कर लिया है।

5)  भाई संतोष के शहीद होने के बाद परिवार में अकेले थे संदीप

संदीप शर्मा दो भाई थे। उनका एक भाई संतोष 2004 में जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों से लड़ते हुए शहीद हो गया था। इसके बाद पूरे परिवार की जिम्मेदारी संदीप के कंधों पर थी। वे भिंड शहर के अटेर रोड पर दैपुरिया मार्केट में निवास करने के साथ एक न्यूज चैनल में काम करते थे। उनके दो छोटे छोटे बच्चे हैं।

6) ये तीन वजहें जो हादसे को संदिग्ध बनाती हैं

– यहां बता दें कि संदीप शर्मा को कुचलने वाला ट्रक उनके अटेर रोड से ही बंबा किनारे होते हुए आया था। तब तक वे ट्रक के पीछे चल रहे थे। जैसे ही वे ट्रक के आगे हुए वे उसकी चपेट में आ गए।
– सीसीटीवी फुटेज के अनुसार संदीप अपनी साइड पर जा रहे थे। लेकिन ट्रक चालक ने अचानक ट्रक को सड़क किनारे दबा दिया, जबकि उस समय सड़क खाली थी। और कुचलते हुए सड़क से उतरकर ट्रक को भगा ले गया।
– हादसे के बाद ट्रक चालक ने बड़ी ही चालाकी से ट्रक को सीधे एक गैराज पर ले जाकर खड़ा कर दिया। साथ ही मैकेनिकों से उसकी कमानी खोलने की कहकर फरार हो गया।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.