Press "Enter" to skip to content

बरसाना में लट्ठमार होली में शामिल हुए बिना लौटे योगी, सिक्युरिटी क्लीयरेंस नहीं मिली

बरसाना (मथुरा )।

विश्व प्रसिद्ध मथुरा के बरसाना की लट्ठमार होली देखे बिना ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को वापस लौटना पडा़। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को प्रिया कुंड में आचमन के बाद होलिहारों के साथ राधा रानी मंदिर में दर्शन करना था। उन्हें रंगीला चौक स्थित रंगीली गली भी पहुंचना था जहां बरसाने की मतवारी गोपियाँ, नंदगांव के हुरियारों के संग पारंपरिक लट्ठमार होली खेलती हैं। बरसाने में सुबह से ही देश और विदेश से भारी संख्या में लट्ठमार होरी के दर्शक जमा होने लगे थे। रंग-अबीर की छटा में आज राधा रानी का बरसाना सराबोर है।

सूत्रों के अनुसार भारी भीड और संकरी गलियों के चलते सिक्युरिटी क्लीयरेंस न मिलने की वजह से योगी जी आज लट्ठमार होरी में शामिल नहीं हो सके। उनका चौपर राधा रानी मंदिर की परिक्रमा कर उड गया। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी बरसाना पहुंचे थे। ब्रज मंडल में चालीस दिन होरी खेली जाती है। आज बरसाना की लट्ठमार होली के साथ ही ब्रज मंडल में रंग पर्व का शुभारंभ हो गया है। इसके बाद कृष्ण जन्मभूमि में फूलों की होली होगी। ब्रज मंडल में रंग-अबीर, फूलों के साथ ही लड्डुओं से भी होली खेली जाती है।

शुक्रवार शाम को ही सीएम मथुरा पहुंच गए थे। शनिवार सुबह-सुबह उन्होंने कृष्ण जन्मभूमि का दर्शन किया। इसके बाद माताजी गोशाला में गोपूजन किया। योगी आदित्यानाथ श्रीकृष्ण जन्मभूमि स्थल पर करीब 40 मिनट रहे। उन्होंने कृष्णकुण्ड पर विधि-विधान के साथ पूजा-अर्चना की और मन्दिर शक्तिपीठ मां कृष्ण कुण्ड वाली, गोपीनाथ मन्दिर, बाबा जाहरवीर मन्दिर में दर्शन किया।

इस मौके पर परम्परागत ढंग से ढोल-नगाडे़ पर थाप लगाकर फगुनोत्सव का आगाज किया। सीएम ने परिसर के बाहर जमा हुई भीड़ का अभिवादन किया। इस दौरान भीड़ ने जय श्रीराम का घोष लगाया।

वहीं योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार अपने धार्मिक स्थलों को विश्वस्तरीय पर्यटन स्थलों के रूप में विकसित करने की कोशिश में जुटी है। इसके लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

इससे पहले जब योगी श्रीकृष्ण जन्मस्थली पर पहुंचे तो अगवानी जन्मस्थान संस्थान के पदाधिकारी और भाजपाईयों ने की। योगी-योगी का भी नारा लगा। योगी ने सभी का हाथ हिलाकर अभिवादन किया।।

योगी के जन्मस्थान पहुंचने से पहले मार्गों पर वाहन तो प्रतिबंधित थे, वहीं जन्मस्थान का गोविंदनगर गेट और आवासीय गेट 6.30 बजे से बंद कर दिए गए थे। इसके चलते आम दर्शनार्थियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने  शनिवार को माताजी गोशाला में गोपूजन किया। इस दौरान वे संतों के साथ गो एवं यमुना की दशा बेहतर बनाने पर चर्चा भी की।
More from उत्तर प्रदेशMore posts in उत्तर प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.