Press "Enter" to skip to content

राष्ट्रीय खटीक महासभा ने राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन जिला प्रशासन को सौपा

मुजफ्फरनगर।

राष्ट्रीय खटीक महासभा के बैनर तले खटीक समाज के लोगो ने कचहरी मे धरना प्रदर्शन कर राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन सौपा। राष्ट्रीय खटीक महासभा के जिलाध्यक्ष राहुल जौहरी के नेतृत्व मे कचहरी स्थित डीएम कार्यालय पहुंचे खटीक समाज के लोगो ने राज्यपाल को सम्बोधित एक ज्ञापन जिला प्रशासन को सौपा। जिसमे अवगत कराया गया कि खटीक समाज सामाजिक, आर्थिक व शैक्षिक रूप से अत्यंत पिछडा हुआ समाज है जो अनुसूचित जाति के अर्न्तगत आता है। सोनकर, धनगर, चिकवा, चक आदि खटीक समाज की उपजातियां हे। किन्तु कुछ समय से अन्य वर्ग के लोग प्रशासन पर अनुचित दबाव बनाकर नियम विरूध विभिन्न प्रशासनिक आदेश पत्र जारी करा कर धनगर जाति अनुसूचित जाति का जाति प्रमाण पत्र प्राप्त करने का कुत्सित प्रयास कर रहे हैं। जिसमे अनुसूचित जातियों की अपूरणीय क्षति होगी।

ज्ञापन मे मांग की गई कि गडरिया जाति के लोगो को धनगर जाति मानते हुए अनुसूचित जाति का प्रमाण पत्र निर्गत कराया जाना संविधान की मूल भावना एवं दलित शोषित वर्ग के हितो के विरूध है। जिस पर खटीक समाज तत्काल प्रभाव से रोक लगाने की मांग अनुसूचित जाति वर्ग पूरजोर तरीके से करता है। वहीं दूसरी और अनुसूचित जाति जिला स्तरीय प्रतिनिधि मण्डल, मुजफ्फरनगर के तत्वाधान मे पाल गडरिया, धनगर जातियो के अनुसूचित जाति के प्रमाण पत्र बनवाये जाने के विरोध मे प्रधानमन्त्री व मुख्यमंत्री को सम्बोधित एक ज्ञापन जिला प्रशासन को सौपा गया। इस दौरान फल कुमार खटीक, श्रवण मोघा, विजय मुंडे, मनुप्रिय मजदूर, कस्तूर सिह स्नेही, रोशनलाल छत्रालिया, विजेन्द्र कोरी, ओमबीर, नीरज आदि अनेक लोग शामिल रहे।

यहाँ भी क्लिक करें……

More from खबरMore posts in खबर »
More from शहरनामाMore posts in शहरनामा »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.