Press "Enter" to skip to content

लिंग जांच करने वाले फर्जी चिकित्सक को पुलिस ने दबोचा

जयपुर।

पुलिस ने फर्जी चिकित्सक को लिंग जांच करते हुए रंगे हाथों दबोच लिया है। मामला विराटनगर का है। यहां पर राज्य पीसीपीएनडीटी टीम ने दबिश देकर फर्जी चिकित्सक अभय यादव सहित उसके दो साथियों को गिरफ्तार कर लिया। पीसीपीएनडीटी टीम का यह 112वां डिकाय आॅपरेशन है। जानकारी के अनुसार विराटनगर में हैप्पी डायग्नोस्टिक सेंटर पर भ्रूण लिंग जांच में लिप्त कथित चिकित्सक अभय यादव एवं महिला दलाल अलवर निवासी 78 वर्षीय किरण को गिरफ्तार किया गया। पीसीपीएनडीटी द्वारा अब तक 33 इंटरस्टेट सहित 112 डिकाय कार्यवाही की जा चुकी है।
पीसीपीएनडीटी सेल के अध्यक्ष और मिशन निदेशक एनएचएम नवीन जैन ने बताया कि मुखबिर के माध्यम से अलवर शहर व आसपास की गर्भवती महिलाओं का भ्रूण लिंग जांच करने की शिकायत मिल रही थी। सूचना की पुष्टि के बाद डिकाय दल तैयार किया गया और टीम ने दलाल किरण से संपर्क साधा। दलाल ने 25 हजार रुपए में भ्रूण लिंग जांच करने की बात कही एवं अलवर स्थित भगत सिंह सर्किल पर बुलाया। एक महिला को बोगस ग्राहक बनाकर भगत सिंह सर्किल पर भेजा गया। वहां पर दलाल महिला टैक्सी किराये पर लेकर जयपुर के विराटनगर में हैप्पी डायग्नो सेंटर पर ले गई, जहां कथित चिकित्सक अभय यादव ने सोनोग्राफी की एवं भ्रूण लिंग के बारे में जानकारी दी। महिला का इशारा पाकर टीम ने अभय यादव एवं महिला दलाल किरण को गिरफ्तार कर डिकाय राशि हू-बू-हू नंबरी नोट बरामद किए। दोनों आरोपियों को आज को पीसीपीएनडीटी कोर्ट अलवर में पेश किया जाएगा। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रघुवीर सिंह के नेतृत्व में हुई इस कार्यवाही में सीआई पूरणमल, हैड कांस्टेबल डालचंद, कांस्टेबल राजेन्द्र सिंह, जिला पीसीपीएनडीटी समन्वयक जयपुर प्रथम बबीता चौधरी, दौसा के मुनेन्द्र एवं अलवर के गफूर खान एवं दौसा के डाटा मैनेजर अमित राठौड शामिल थे।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.