Press "Enter" to skip to content

औरेया : नकली बिछिया व पायल मिलने के मामले में समाज कल्याण अधिकारी पर एफआईआर

औरेया ।

यूपी के औरेया जिले में शासन की सामूहिक विवाह योजना के तहत 48 जोड़ों की कराई गई शादी में नकली बिछिया व पायलें दिए जाने के मामले में डीएम के आदेश पर समाज कल्याण अधिकारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। डीएम की ओर से सीडीओ को दी गई जांच में दोषी पाए जाने पर तत्काल प्रभाव से कार्रवाई की गई है। साथ ही दंडात्मक कार्रवाई के लिए शासन को भी रिपोर्ट भेजी गई है।
इस मामले में डीएम श्रीकांत मिश्रा की ओर से जानकारी दी गई कि गत 18 फरवरी को 48 जोड़ों का सामूहिक विवाह समारोह कार्यक्रम जनपद स्तर पर आयोजित कराया गया था। जिसमें सभी जोड़ों को बिछिया व पायलें उपहार स्वरुप दी गई थी। वहीं गत 27 फरवरी को डीएम को रचना कुमारी, सरवीन, पिंकी, सत्यवती आदि की ओर से एक शिकायती पत्र दिया गया। जिसमें मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह के दौरान दी गई पायलें व बिछिया लोहे के निकले होने का हवाला दिया गया। मामला संज्ञान में आते ही डीएम ने इसकी जांच सीडीओ सत्येंद्र नाथ चौधरी को सौंपी। सीडीओ की ओर से की गई जांच रिपोर्ट में हकीकत सामने आ गई। डीएम को सौंपी रिपोर्ट में सीडीओ ने विवाह समारोह के दौरान दी गईं पायलें व बिछिया चांदी के नहीं पाए जाने की बात कही गई।

इस मामले में डीएम ने शासनादेश के निर्देशों की अवहेलना करते हुए मनमानी करने पर समाज कल्याण अधिकारी विनीत कुमार तिवारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी है। वहीं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग को रिपोर्ट भेजकर विनीत तिवारी खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की भी संस्तुति की है। विनीत तिवारी मूलत: जिले में पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी है और समाज कल्याण विभाग का अतिरिक्त प्रभार है।

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना में जारी शासनादेश के तहत शादी समारोह में विवाहित जोड़ों को दी जाने वाली पायलों व बिछिया की खरीद करने के लिए ई-टेंडरिंग प्रक्रिया अपनाए जाने के निर्देश दिए गए थे। लेकिन संबंधित जिम्मेदार अधिकारी ने बिना ई-टेंडरिंग के ही मेसर्स जनसेवा खादी ग्रामोद्योग सेवा संस्थान कटरा सेवाकली इटावा से विवाहित जोड़ों को दिए जाने के लिए सिल्क साड़ी-चुनरी, चुनरी लाल गोटेदार, सिल्क सलवार सूट का कपड़ा, ब्लाउज, पेटीकोट, पायल चांदी की डिजायनदार सैट, बिछिया चांदी की छह पीस आदि उक्त सामानों की आपूर्ति मंगवा ली। मजे की बात तो यह है कि ऐसे ही मामले में इटावा में हुए सामूहिक विवाह समारोह में ई-टेंडरिंग की प्रक्रिया कर नियमों का पूरा ध्यान रखते हुए आपूर्ति ली गई थी।

विवाहित जोड़ों को दी जाएंगी चांदी की बिछिया व पायलें
मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना में 48 जोड़ों को लोहे की पायलें व बिछिया दिए जाने का खुलासा होने के बाद डीएम की ओर से उक्त सभी जोड़ों को चांदी की पायलें व बिछिया दिए जाने की तैयारी शुरु कर दी गई है। जल्द ही इसका क्रियान्वयन भी कर दिया जाएगा।

फर्म ने धोखा दिया
इस संबंध में जिला समाज कल्याण अधिकारी का कहना है कि क्रय समिति के अध्यक्ष सीडीओ भी है। समय कम था इसलिए जल्दबाजी की गई। यह संस्था सरकारी विभागों में पहले से ही सप्लाई करती है। इसलिए विश्वास नही था कि यह ऐसा कर सकती है। फर्म ने धोखा दिया है।

More from उत्तर प्रदेशMore posts in उत्तर प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.