Press "Enter" to skip to content

पिछले 24 घंटे में सामने आए कोरोना वायरस के 12,194 नए मामले, 92 की मौत

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस के दैनिक मामलों में उतार-चढ़ाव का दौर जारी है। शनिवार के मुकाबले रविवार को कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी देखी गई है। पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 12,194 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कुल कोरोना संक्रमण का आंकड़ा 1.09 करोड़ के पार चला गया है।केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से रविवार को जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक देश में पिछले 24 घंटे में 12,194 नए मामले सामने आए हैं और इसी अवधि में 92 मरीजों ने इस खतरनाक वायरस के आगे अपना दम तोड़ा है। देश में कोविड-19 का कुल आंकड़ा बढ़कर 1,09,04,940 हो गया है। वहीं इस दौरान 92 मरीजों की इस वायरस से मौत हो गई है, जिसके बाद कुल मृतकों का आंकड़ा 1,55,642 पर पहुंच गया है। इसके साथ ही अब मृत्युदर 1.43 प्रतिशत है।

एक दिन में ठीक हुए 11,106 मरीज-मंत्रालय के अनुसार पिछले 24 घंटे में जितने मरीज कोरोना वायरस से ठीक हुए हैं, उनका आंकड़ा दैनिक संक्रमित आंकड़ों से कम है। पिछले 24 घंटे में 11,106 मरीज अस्पताल से छुट्टी लेकर स्वस्थ होकर अपने घर गए हैं। अब देश में कोरोना वायरस से ठीक हुए मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 1,06,11,731 हो गया है। कोविड-19 से उबरने की राष्ट्रीय दर 97.31 प्रतिशत हो गई है। वहीं सक्रिय मामलों की बात करें तो देश में यह संख्या दो लाख से कम यानि मौजूदा समय में 1,37,567 मरीजों का ही अस्पताल और घरों में इलाज चल रहा है। आंकड़ों के अनुसार भारत में सात अगस्त 2020 को संक्रमित लोगों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितंबर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्तूबर को 70 लाख, 29 अक्तूबर को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर को एक करोड़ के पार चले गए थे। आईसीएमआर के अनुसार 13 फरवरी तक 20,62,30,512 नमूनों की जांच की जा चुकी है। शनिवार को 6,97,114 नमूनों की जांच की गई। इसके अलावा अब तक देश में कोरोना वायरस टीकाकरण अभियान के तहत 82,63,858 लोगों को टीका लग चुका है।

भारत में ठीक होने की राष्ट्रीय दर सबसे अधिक: केंद्र-केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को कहा कि भारत में एक अक्टूबर 2020 से लगातार कोविड-19 से होने वाली दैनिक मौतों की संख्या में गिरावट आ रही है जबकि मरीजों के ठीक होने की दर दुनिया में सबसे बेहतर दरों में एक है। मंत्रालय ने कहा कि एक अक्टूबर 2020 से देश में कोविड-19 से मृत्युदर में लगातार गिरावट आ रही है। आज की तारीख तक मृत्युदर 1.5 प्रतिशत (1.43 प्रतिशत) से कम है। भारत में संक्रमितों के अनुपात में मृत्यु दर दुनिया की सबसे कम मृत्यु दर में एक है। मंत्रालय ने बताया कि कोविड-19 से ठीक होने वालों की संख्या 1,06,11,731 हो गई है जिनमें से 11,016 मरीज गत 24 घंटे में ठीक हुए हैं।मंत्रालय ने रेखांकित किया कि भारत में कोविड-19 से ठीक होने की दर 97.31 प्रतिशत है जो दुनिया में सबसे उच्च दरों में से एक है। रविवार तक कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों एवं ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में अंतर 1,04,74,164 रहा। मंत्रालय ने बताया कि गत 24 घंटे में सामने आए नए मामलों में 86.25 प्रतिशत छह राज्यों में सीमित हैं। केरल में सबसे अधिक नए मामले आने का क्रम जारी है और गत 24 घंटे में 5,471 और लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है जबकि महाराष्ट्र एवं तमिलनाडु क्रमश: 3,611 और 477 नए मामलों के साथ दूसरे एवं तीसरे स्थान पर हैं। मंत्रालय ने बताया कि गत 24 घंटे में होने वाली मौतों में 78.3 प्रतिशत मौतें छह राज्यों में दर्ज की गई हैं। महाराष्ट्र में सबसे अधिक 38 लोगों ने इस अवधि में जान गंवाई जबकि केरल में 16 और तमिलनाडु व छत्तीसगढ़ में पांच-पांच लोगों की मौत दर्ज की गई।

82 लाख लोगों का टीकाकरण-मंत्रालय ने बताया कि अब तक 82 लाख से अधिक स्वास्थ्य कर्मियों एवं फ्रंटलाइन कर्मियों का कोविड-19 से बचाव के लिए टीकाकरण किया गया है। मंत्रालय ने बताया कि रविवार सुबह आठ बजे तक 1,72,852 टीकाकरण सत्रों में कुल 82,63,858 लाभार्थियों को टीका लगाया गया है जिनमें 59,84,018 स्वास्थ्यकर्मियों को टीके की पहली खुराक जबकि 23,628 स्वास्थ्य कर्मियों को दूसरी खुराक दी गई है। वहीं 22,56,212 फ्रंटलाइन कर्मियों को भी टीके की पहली खुराक दी जा चुकी है। टीके की पहली खुराक देने के 28 दिन बाद दूसरी खुराक देने की शुरुआत शनिवार को की गई। टीकाकरण अभियान के 29वें दिन (13 फरवरी को) कुल 2,96,211लाभार्थियों को टीका लगाया गया। कुल 8,071 सत्र में 2,72,583 लाभार्थियों को पहली खुराक दी गई जबकि 23,628 स्वास्थ्य कर्मियों को टीके की दूसरी खुराक दी गई। मंत्रालय ने बताया कि प्रत्येक दिन देश में टीकाकरण में प्रगति हो रही है और टीकाकरण के 68.55 फीसदी लाभार्थी 10 राज्यों के हैं।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *