Press "Enter" to skip to content

एसवाईएल के मुद्दे पर इनेलो मई महीने में करेगी जेल भरो आंदोलन

नई दिल्ली।

दिल्ली हरियाणा की राजनीति में अपनी पुरानी स्थिति के लिए जद्दोजहद कर रहे इंडियन नैशनल लोकदल (इनेलो) ने बुधवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में रैली कर सतुलज-यमुना लिंक नहर (एसवाईएल) के मुद्दे पर मई महीने में जेल भरो आंदोलन शुरू करने का ऐलान किया। इनेलो के वरिष्ठ नेता और हरियाणा विधानसभा में नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने अपने पिता पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के निर्देश के हवाले से हरियाणा की जनता से कई लुभावने वादों की झड़ी भी लगाई। उन्होंने हरियाणा में इनेलो की सरकार आने पर किसानों की सम्पूर्ण कर्ज माफी, किसानों के ट्यूबवैल और हर किसी के घर के बिजली बिलों की माफी, हर पढ़े-लिखे को रोजगार या बेरोजगारी भत्ता और गरीब के घर में बेटी होते ही पांच लाख रुपये देने जैसे वादे किए। अभय और इनेलो के दूसरे नेताओं ने स्वामीनाथन आयोग जैसे वादों से मुकरने और एक के बाद एक कई घोटालों का जिक्र करते हुए भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना की।

गौरतलब है कि हरियाणा के दिवंगत दिग्गज नेता व देश के पूर्व उप प्रधानमंत्री चौ. देवीलाल के परिवार से संबंधित इनेलो पिछले काफी समय से संकट का सामना कर रहा है। इनेलो सुप्रीमो व हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला और उनके बड़े बेटे अजय चौटाला भर्ती घोटाले में जेल में सजा काट रहे हैं। वफादार कार्यकर्ताओं की पार्टी मानी जाने वाली इनेलो के सामने बड़ा संकट यह भी है कि 2004 के बाद से उसे सत्ता में हिस्सेदारी नहीं मिली है और ऐसे में कार्यकर्ताओं को जोड़े रखना आसान नहीं रह जाता है। हालांकि, तमाम विपरीत परिस्थियों के बावजूद चौटाला के कड़े खांटी नेताओं वाले तेवर बरकरार है। पैरोल पर जेल से आए चौटाला ने इस रैली से पहले झज्जर में बाकायदा भाषण देकर अपनी पार्टी की सरकार आने पर हर घर में नौकरी देने का वादा किया था। सुप्रीम कोर्ट के साये वाले दिल्ली शहर की रैली में वे शामिल नहीं हो सके पर उनके छोटे बेटे अभय सिंह चौटाला ने उनके हवाले से ही तमाम ऐलान किए। हरियाणा और पंजाब के बीच पानी के बंटवारे को लेकर चले आ रहे पुराने झगड़े एसवाईएल नहर को लेकर उन्होंने 1 मई तक सरकार का इंतजार करने के बाद हरियाणा भर में जेल भरो आंदोलन शुरू करने का ऐलान किया।

गौरतलब है कभी बेहद तीखा रहा यह मुद्दा अपनी धार खोता गया है। देवीलाल परिवार व बादल परिवार की दोस्ती और केंद्र व दोनों प्रदेश में एक ही पार्टी रहने की स्थितियों में भी इस मसले के अनसुलझे रहने की वजह से इनेलो और कांग्रेस दोनों पर भी सवाल उठते रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट हरियाणा के पक्ष में फैसला दे चुका है जिसे लागू करने की मांग को लेकर इनेलो लगातार आक्रामक मूड़ में है। नहर की खुदाई का ऐलान कर पंजाब सीमा में जाकर गिरफ्तारी देने और दिल्ली में संसद घेराव का ऐलान कर लाठीचार्ज झेलने के बाद अब यह रैली आयोजित की गई थी। अभय चौटाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर किसानों, युवाओं व सभी वर्गों से वादाखिलाफी का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि स्वामीनाथन आयोग लागू करने और फसलों का लागत से 50 फीसदी ज्यादा भाव देने का वादा पूरा होना तो दूर रहा किसानों को उनकी फसलों का एमआरपी भी नहीं मिल पा रहा है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के नाम पर किसानों से जबरन वसूली कर पीएम के चहेते दो लोगों की जेबें भरी जा रही हैं।

अभय चौटाला ने कहा कि हरियाणा में भाजपा कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने का वादा कर सरकार में आई लेकिन अब प्रदेश में विभिन्न विभागों के कर्मचारियों के आंदोलनों की अनदेखी की जा रही है। चंडीगढ़ में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सीएम मनोहर लाल खट्टर को वादा याद दिलाने पहुंची तो उनसे मिलने के बजाय सीएम ने विधानसभा में कहा कि वे किसी यूनियन के आगे नहीं झुकेंगे, लाल झंडे से नहीं डरेंगे और भगवा को लहराएंगे। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने कहा कि उन्होंने विधानसभा में ही इस बात के लिए सीएम की आलोचना की कि वादे पूरे करने और फरियादियों से मिलने की जिम्मेदारी पूरी करने के बजाय वे लाल, हरे, पीले झंड़ों की बातें करें। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी कर्मचारियों और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के साथ है। इससे पहले अजय चौटाला के दोनों बेटों सांसद दुष्यंत चौटाला व इनेलो की स्टूडेंट विंग इनसो को राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला, इनेलो के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा, गोपीचंद गहलोत, रामपाल माजरा, जसविंदर संधु आदि नेताओं ने रैली कौ संबोधित किया।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.