Press "Enter" to skip to content

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर प्रदेश की महिलाओं को बधाई दी

लखनऊ ।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज आशियाना के स्मृति उपवन में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर महिला समाख्याओं द्वारा आयोजित “स्वच्छ शक्ति-2018” के कार्यक्रम में शामिल हुए। साथ ही योगी आदित्यनाथ ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर प्रदेश की महिलाओं को हार्दिक बधाई दी।
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि केन्द्र सरकार और राज्य सरकार ने महिलाओं के लिए समाज में आगे बढ़ने के लिए बहुत काम किये हैं। वर्तमान समय में नारी शक्ति ने स्वयं को आत्मनिर्भर बनाते हुए देश और समाज को भी आगे बढ़ाने का काम किया है। भारत सरकार द्वारा ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान चलाया जा रहा है। साथ ही महिलाओं के लिए विभिन्न योजनायें केंद्र और राज्य सरकार चला रहीं हैं जो निम्नवत हैं-

>>बेटियों को सशक्त करने के लिए ‘सुकन्या समृद्धि योजना’ के तहत इन्हें आर्थिक बल प्रदान करने के लिए 1.26 करोड़ बैंक खाते खोले गए।
>>उज्ज्वला योजना के माध्यम से 3.2 करोड़ मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन दिए गए। इससे गरीब महिलाओं को चूल्हे के धुएं से आजादी मिली है। आदित्यनाथ ने कहा कि कुपोषण मुक्त भारत के लिए अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर एक राष्ट्रव्यापी अभियान प्रारम्भ हो रहा है।
>>प्रधानमंत्री मातृ वंदन योजना के माध्यम से पात्र महिलाओं के लिए 6,000 रुपए की वित्तीय सहायता भी प्रदान की जा रही है।
>>प्रधानमंत्री जन धन योजना के अंतर्गत देश में 16.42 करोड़ महिलाओं के बैंक खाते खुलवाए गए।
मुद्रा योजना के माध्यम से 7.88 करोड़ महिला उद्यमियों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए मुद्रा लोन दिया जा रहा है।
>>स्टैंड अप इंडिया के माध्यम से 6895 करोड़ रुपए का लोन महिला उद्यमियों को दिया गया।
>>मुख्यमंत्री  ने कहा सत्ता में आते ही प्रदेश सरकार द्वारा एण्टी रोमियो स्क्वायड के गठन जैसे कई प्रभावी कदम उठाये।
>>प्रदेश में महिलाओं के लिए ‘181’ महिला हेल्पलाइन एवं रेस्क्यू वैन का संचालन किया।
>>‘अहिल्याबाई निःशुल्क शिक्षा योजना’ के अंतर्गत ग्रेजुएशन स्तर तक की सभी बालिकाओं को निःशुल्क शिक्षा। साथ ही वर्ष 2018-19 के बजट में राज्य सरकार द्वारा इस योजना के लिए 21 करोड़ रुपए की धनराशि प्रस्तावित की गई है।
>>किशोरी बालिका सशक्तीकरण योजना सबला हेतु लगभग 351 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई।
निराश्रित महिला पेंशन योजना के अन्तर्गत निराश्रित विधवाओं के भरण-पोषण अनुदान हेतु 1 हजार 263 करोड़ रुपये का बजट में प्राविधान।
>>महिला एवं बाल कल्याण के विभिन्न कार्यक्रमों हेतु लगभग 8 हजार 815 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित की गई है। इसी प्रकार पुष्टाहार कार्यक्रम के अन्तर्गत समन्वित बाल विकास परियोजनाओं में पोषाहार हेतु 3 हजार 780 करोड़ रुपये की व्यवस्था के साथ ही शबरी संकल्प योजना हेतु 524 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार महिलाओं एवं बालिकाओं को पूरी सुरक्षा देने के साथ-साथ उनके सामाजिक और आर्थिक सशक्तीकरण के लिए कार्य कर रही है। कोई भी समाज बिना महिलाओं के योगदान के विकास नहीं कर सकता। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य सरकार ने वित्तीय वर्ष 2018-19 के बजट में महिलाओं के उत्थान हेतु कई प्राविधान किए हैं।

More from उत्तर प्रदेशMore posts in उत्तर प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.