Press "Enter" to skip to content

भारत में एक दिन में रिकार्ड 650 कोरोना मरीजों की मौत,संक्रमितो की संख्या पौने सात लाख पार

नई दिल्ली। देश में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 27,583 नए मामले सामने आने के साथ ही कोविड-19 के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 6,75,898 हो गई है। पिछले एक दिन में इस महामारी से अब तक रिकार्ड सर्वाधिक 650 और लोगों की मौत के साथ रविवार को मृतकों की संख्या 19,305 हो गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक देश में लगातार तीसरे दिन कोरोना वायरस संक्रमण के मामले 20 हजार से अधिक आए हैं। रविवार शाम छह बजे तक के ताजा आंकड़ों के अनुसार देश में अब तक 4,10,387 लोग संक्रमण से उबर चुके हैं, वहीं एक रोगी देश छोड़कर जा चुका है। जबकि इस समय देश में 2,46,138 रोगियों का इलाज चल रहा है। इस संबंध में एक अधिकारी ने कहा, इस तरह अब तक करीब 61 प्रतिशत रोगी स्वस्थ हो चुके हैं। पिछले एक दिन में सामने आए मौत के 650 मामलों में 295 महाराष्ट्र से, 81 दिल्ली से, 65 तमिलनाडु से, 42 कर्नाटक से, 24 उत्तर प्रदेश से, 21 गुजरात से, 19 पश्चिम बंगाल से, 12 आंध्र प्रदेश से, नौ बिहार से, आठ जम्मू कश्मीर से, सात राजस्थान से, हरियाणा, मध्यप्रदेश, ओडिशा, पंजाब और तेलंगाना से पांच-पांच, गोवा तथा झारखंड से दो-दो और हिमाचल प्रदेश से एक मामला सामने आया है। मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले एक दिन में 27,583 नए मामलों में आंध्र प्रदेश में 998, ओडिशा में 469 और राजस्थान में 224 नए मामले दर्ज किए गए हैं।

महाराष्ट्र में दो लाख का आंकडा पार-देश में कोरोना संक्रमण के मामले में सबसे आगे चल रहे महाराष्ट्र में अब तक 2,00,064 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं ,जिनमें 83,295 का इलाज चल रहा है और 1,08,082 मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि 8,671 कोरोना मरीजों की मौत के साथ महाराष्ट्र सबसे आगे है। वहीं तमिलनाडु में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1,07,001 पहुंच गया, जिनमें 44,959 सक्रिय मामले हैँ ,जबकि 60,592 मरीज कोरोना को मात देकर ठीक हो चुके हैं, इस रज्य में 1,450 लोगों की मौत हो चुकी है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अब तक 3004 लोगों की मौत हो चुकी है, जहां कुल मरीजों की संख्या 97,200    पहुंच गई  है। इनमें 25,940 का इलाज चल रहा है और 68,256 मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं।

एक दिन में 2.48 लाख से ज्यादा परीक्षण-इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) की ओर से जारी आंकड़े के मुताबिक, देशभर में 4 जुलाई तक परीक्षण किए गए नमूनों की कुल संख्या 97,89,066 है। जिनमें से 2,48,934 नमूनों का परीक्षण पिछले एक दिन किया गया है।

बीएसएफ के 36 और जवान संक्रमित-सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की ओर से जारी कोरोना बुलेटिन के मुताबिक, पिछले एक दिन में सीमा सुरक्षा बल के 36 और जवानों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है और इस दौरान 33 जवान ठीक हुए हैं। बीएसएफ में अब 526 सक्रिय मामले हैं और अब तक 817 जवान ठीक हो चुके हैं।

सेना के 600 जवानों की टीम अस्पताल में रहेगी तैनात-डीआरडीओ द्वारा निर्मित सरदार वल्लभभाई पटेल कोविड अस्पताल में लेफ्टिनेंट जनरल डॉ. माधुरी कानिटकर ने कहा कि ‘यहां पहले महीने के लिए डॉक्टरों, नर्सिंग अधिकारियों और पैरामेडिकल स्टाफ सहित सेना के 600 जवानों की एक टीम तैनात है। यह संख्या रोगियों की संख्या के अनुसार अलग-अलग होंगी।’

डीआरडीओ ने कोरोना से लड़ने के लिए 70 उत्पादों का निर्माण किया-जी सतीश रेड्डी ने कहा कि ‘डीआरडीओ ने कोरोना के खिलाफ लड़ने के लिए अब तक 70 ‘मेड इन इंडिया’ उत्पादों का निर्माण किया है। अगर जरूरत पड़ी तो हम हर महीने करीब 25,000 वेंटिलेटर का निर्माण कर सकते हैं। हम उन्हें निर्यात करने के लिए भी तैयार हैं।’

अमित शाह व राजनाथ सिंह ने किया कोविड अस्पताल का दौरा-केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दिल्ली में स्थित छावनी में डीआरडीओ द्वारा निर्मित सरदार वल्लभ भाई पटेल कोविड अस्पताल का दौरा किया।इस दौरान उनके साथ स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और डीआरडीओ अध्यक्ष जी सतीश रेड्डी उपस्थित रहें। दिल्ली के छतरपुर स्थित राधा स्वामी ब्यास में 10,000 बिस्तरों वाले सरदार पटेल कोविड केयर सेंटर एंड हॉस्पिटल को संचालित करने वाली नोडल एजेंसी आईटीबीपी है। वहीं दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने छतरपुर स्थित राधा स्वामी ब्यास में 10,000 बिस्तरों वाले सरदार पटेल कोविड केयर सेंटर एंड हॉस्पिटल का दौरा किया।

दिल्ली में प्लाजमा बैंक शुरू-दिल्ली के लिवर और पित्त विज्ञान संस्थान में प्लाज्मा बैंक शुरू किया गया है। कोरोना संक्रमित रहे और  14 दिन के आइसोलेशन का समय पूरा कर चुके लोग यहां अपना प्लाज्मा दान कर सकते हैं। प्लाज्मा दान करने वाले एक शख्स ने कहा कि इलाज के लिए इंतजार नहीं किया जा सकता है, हमें यह देखना होगा कि पहले से मौजूद संसाधनों आदि के माध्यम से कैसे हम दूसरों की मदद कर सकते हैं। डॉ. मीनू बाजपेयी ने कहा कि हमारा मकसद अस्पतालों को उनकी जरूरत के हिसाब से प्लाज्मा मुहैया कराना है। यदि लोग प्लाज्मा दान देते रहें तो हम जल्द से जल्द मदद कर सकते हैं। प्लाज्मा बैंक सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक खुला रहता है। प्रत्येक दाता लगभग 500 मिलीलीटर प्लाज्मा देता है, जिसका लगभग दो रोगियों को लाभ मिलता है। प्लाज्मा को एक वर्ष तक संरक्षित किया जा सकता है।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.