Press "Enter" to skip to content

कोरोना के टीकाकरण के लिए वायुसेना ने बनाई योजना,अरुणाचल से लेकर लद्दाख तक देगी सेवा

नई दिल्ली। कोरोना वैक्सीन को देश के अलग-अलग हिस्सों में पहुंचाने के लिए सरकार ने तैयारी तेज कर दी है। इसके लिए सरकार विभिन्न तरह के परिवहनों की व्यवस्था करने में जुट गई है जिससे की जल्द से जल्द लोगों के बीच टीकाकरण अभियान शुरू किया जा सके। सरकार के अनुसार इस प्रक्रिया में भारतीय वायुसेना की मदद ली जाएगी। दूर दराज के इलाकों में वैक्सीन को पहुंचाने के लिए सी-130 जेएस और एन-32 मालवाहक विमानों सहित वायु सेना के परिवहन विमान का इस्तेमाल किया जाएगा। वैक्सीन निर्माताओं और आपूर्तिकर्ताओं द्वारा टीके के परिवहन के दौरान उचित तापमान बनाए रखने के लिए विशेष कंटेनरों को तैयार किया गया है। अरुणाचल प्रदेश और लद्दाख जैसी जगहों के लिए भारतीय वायुसेना के विशेष सैन्य हवाई विमानों का इस्तेमाल किया जाएगा। अधिकारियों के अनुसार वायु सेना सैन्य हवाई क्षेत्रों में वाणिज्यिक विमानों के लिए लैंडिंग की सुविधा भी प्रदान करेगी।

यात्री विमानों को भी टीकों के परिवहन की मिली अनुमति-कोविड-19 वैक्सीन का परिवहन आज या कल से शुरू हो जाएगा। सरकार ने यात्री विमानों को टीकों के परिवहन की अनुमति दे दी है। पुणे केंद्रीय केंद्र होगा जहां से टीकों का वितरण किया जाएगा। देशभर में 41 गंतव्यों को टीके के वितरण के लिए अंतिम रूप दिया गया है। उत्तर भारत के लिए दिल्ली और करनाल को मिनी हब बनाया जाएगा। पूर्वी क्षेत्र के लिए कोलकाता हब होगा, यह पूर्वोत्तर के लिए एक नोडल बिंदु भी होगा। दक्षिणी भारत के लिए चेन्नई और हैदराबाद को नामित किया जाएगा। यह जानकारी सरकारी सूत्रों ने दी है।

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.