Press "Enter" to skip to content

अमेरिकी पत्रिका का दावा: पाकिस्तान के सभी एफ-16 विमान सुरक्षित, कोई भी ‘‘लापता’’ नहीं

वॉशिंगटन- भारत द्वारा पाकिस्तान पर की गई एयर स्ट्राइक पर एक अमेरिकी पत्रिका का कहना है कि पाकिस्तानी वायुसेना के बड़े में जितने एफ-16 लड़ाकू विमान थे, उनमें से कोई भी ‘‘लापता’’ नहीं है और उनमें से किसी भी विमान को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। ‘फॉरेन पॉलिसी मैगजीन’ नाम की पत्रिका में प्रकाशित रिपोर्ट इस बात का दावा करते हुए भारत के उन दावों को खारिज करती है कि उसकी वायुसेना ने 27 फरवरी को हवाई संघर्ष के दौरान एक एफ-16 लड़ाकू विमान मार गिराया था।

मैगजीन की लारा सेलिगमन ने बृहस्पतिवार को कहा, ‘‘पाकिस्तान के एफ-16 बेड़े की गणना के दौरान अमेरिका ने पाया कि सभी विमान मौजूद हैं और उन्हें कोई नुकसान नहीं पहुंचा जो सीधे तौर पर भारत के इस दावे के विपरीत है कि उसने फरवरी को हुई झड़प में उसका एक लड़ाकू विमान मार गिराया था। वही एमआईटी प्रोफेसर विपिन नारंग ने पत्रिका से कहा, ‘ऐसा लग रहा है कि भारत पाकिस्तान को नुकसान पहुंचाने में नाकाम रहा बल्कि उसने इस प्रक्रिया में अपना एक विमान और हेलीकॉप्टर गंवा दिया। हालाँकि अमेरिकी रक्षा विभाग ने अभी पाकिस्तान में एफ-16 लड़ाकू विमानों की गिनती पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

बता दें, 14 फ़रवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ पर हुए हमले के बाद भारत ने 26 फरवरी की आधी रात पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक कर वहां पनप रहे कई आतंकी ठिकानों को नेस्तनाबूत कर दिया था। भारत कि इस बड़ी कार्रवाई से बौखलाएं पाकिस्तान ने 27 फ़रवरी की सुबह हवाई सीमाओं का उल्लंघन करते हुए भारतीय क्षेत्र में घुसने की कोशिश की थी। लेकिन सीमा पर तैनात भारतीय वायुसेना ने जवाबी हमला करते हुए मिग-21 से पाकिस्तानी एफ-16 विमान को मार गिराया था। भारतीय वायुसेना ने 28 फरवरी को मार गिराए गए पाकिस्तान एफ-16 लड़ाकू विमान के अवशेषों को दिखाया था। जो इस बात की पुष्टि करता है कि अमेरिका में बने यह एफ-16 विमानों का पाकिस्तान भारत को टारगेट करने में इस्तेमाल करता है। इस पर पाकिस्तान ने अपनी जवाबदेही में कहा था कि उसने किसिस एफ-16 विमान का इस्तेमाल नहीं किया और अपने एक विमान को भारतीय वायुसेना द्वारा मार गिराए जाने के दावे का भी उसने खंडन किया था। पत्रिका के अनुसार, पाकिस्तान ने इस घटना के बाद अमेरिका को एफ-16 लड़ाकू विमान की गिनती करने के लिए आमंत्रित किया था। जिसके बाद यह रिपोर्ट में खुलासा हुआ है।

More from खबरMore posts in खबर »
More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.