Press "Enter" to skip to content

गृहमंत्री अमित शाह ने एनसीआर में कोरोना के हालात की समीक्षा की

नई दिल्ली। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली समेत पूरे एनसीआर में कोरोना संक्रमण के हालात की समीक्षा की। इस समीक्षा बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी शामिल हुए।

वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए हुई इस बैठक शाह ने एनसीआर में कोरोना वायरस की मैपिंग करने के लिए आरोग्य सेतु और इतिहास ऐप का व्यापक रूप से उपयोग करने को कहा। उन्होंने कहा कि यूपी और हरियाणा एम्स टेलीमेडिसिन परामर्श का भी लाख उठा सकते हैं, जिसके जरिए मरीज विशेषज्ञों से सलाह ले सकते हैं। बैठक के दौरान शाह ने संक्रमण फैलने की दर कम करने में मदद करने के लिए रैपिड एंटीजन टेस्ट किट का उपयोग करके अधिक से अधिक परीक्षण को अपनाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि यह किट केंद्र सरकार द्वारा यूपी और हरियाणा को दी जा सकती  है। शाह ने मृत्यु दर कम करने के लिए शुरुआत समय में ही मरीजों को अस्पताल में भर्ती करने पर ध्यान देने को कहा। कोरोना वायरस को लेकर दिल्ली में हर रोज 22 हजार एंटीजन टेस्ट के आदेश दिए गए हैं। सभी जिला अधिकारियों को रोजाना दो-दो हजार एंटीजन जांच अपने-अपने इलाके में कराने को कहा गया है। अभी दिल्ली में आरटी पीसीआर और एंटीजन को मिलाकर रोजाना करीब 20 हजार नमूनों की जांच की जा रही है। इससे पहले केंद्रयी गृहमंत्री ने एंटीजन बढ़ाने के लिए दिल्ली सरकार को निर्देश दिए थे। अभी तक रैपिड एंटीजन टेस्ट केवल कंटेनमेंट जोन में ही हो रहे ते। बीते मंगलवार को शाह की अध्यक्षता में हुई बैठक में एम्स के निदेश रणदीप गुलेरिया, डीजी आईसीएमआर बलराम भार्गव, डॉ. वी.के. पॉल ने संयुक्त रूप से कहा कि दिल्ली में अभी जांच को और ज्यादा गति देने की जरूरत है। इसके बाद सरकार ने अपनी रणनीति में तब्दीली की और अब जांच में तेजी लाई गई है।

 

इसे भी पढ़ें–स्वास्थ्य मंत्रालय ने होम आइसोलेशन के लिए नया दिशा निर्देश जारी किया

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.