Press "Enter" to skip to content

एंजल ब्रोकिंग बना चौथा सबसे बड़ा ब्रोकरेज हाउस

मुंबई (अनिल बेदाग) भारतीय ब्रोकिंग इंडस्ट्री में अपनी बढ़ती पहुंच के आधार पर एंजल ब्रोकिंग अब एनएसई पर एक्टिव क्लाइंट्स के मामले में देश की चौथी सबसे बड़ी ब्रोकरेज फर्म बन गई है। नए जमाने की ब्रोकरेज फर्म में जिस गति से मिलेनियल कस्टमर जुड़े हैं, उसी की बदौलत यह संभव हो सका है। यह कस्टमर टेक-सैवी हैं और डिजिटली ट्रांजेक्शन करने के लिए डीआईवाय पसंद करते हैं। ब्रोकरेज फर्म ने पिछले एक साल में कई पुरस्कार जीते। मार्च-2020 से यह अपने प्लेटफॉर्म पर हर महीने औसतन 1 लाख ग्राहक जोड़ने में कामयाब रहा है।
एंजल ब्रोकिंग की तेज वृद्धि फर्म के आक्रामक डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन और इनोवेटिव अप्रौच का परिणाम है। स्टार्टर्स के लिए, एंजेल ब्रोकिंग के साथ अकाउंट खोलना और ट्रेडिंग शुरू (ग्राहकों के लिए केवायसी कम्प्लायंस) करने में 15 मिनट से कम समय लगता है। प्लेटफार्म भी फ्री इक्विटी डिलीवरी ट्रेड्स के साथ सरलीकृत प्राइजिंग और इंट्रा-डे, एफएंडओ ट्रेड्स्, कमोडिटी और करेंसी के लिए 20 रुपए का फ्लैट चार्ज वसूलता है। इसके अलावा, इनोवेटिव मार्केटिंग अप्रौच फर्म के अखिल भारतीय मिलेनियल ऑडियंस बेस के साथ सामने आती है।
भविष्य पर अपनी नजर रखते हुए ब्रोकरेज फर्म ने ‘एम्पलीफायर्स’ नाम से एक यूनिक प्लेटफार्म लॉन्च किया है, जो इंडस्ट्री में गेम-चेंजर साबित हो रहा है। यह भारतीय इनफ्लूएंसर्स को ब्रोकरेज फर्म से सीधे जुड़ने और एंड-कस्टमर को अपने चुने संदेश भेजने में सक्षम बनाता है।एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के सीएमओ श्री प्रभाकर तिवारी ने कहा, ‘एंजल ब्रोकिंग में हमारा निरंतर फोकस ग्राहकों को यूनिक व मीनिंगफुल एक्सपीरियंस देना है। एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के सीईओ श्री विनय अग्रवाल ने इस उपलब्धि पर कहा, “हमने एक पारंपरिक ब्रोकरेज फर्म से शेयर बाजार में प्रवेश के लिए मिलेनियल्स की पहली पसंद के रूप में उभरने तक की यात्रा में लंबी छलांग लगाई है। मार्च-2020 के बाद से हमने हर महीने औसतन एक लाख नए खाते जोड़े हैं और अब हमारा लक्ष्य इस विकास दर को बनाए रखते हुए रिटेल स्टॉक ब्रोकिंग में मार्केट लीडर बनना है।”

More from बिजनेसMore posts in बिजनेस »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.