Press "Enter" to skip to content

बंगाल चुनाव: भाजपा के 57 उम्मीदवारों की सूची जारी, ममता बनर्जी के खिलाफ लड़ेंगे शुभेंदु अधिकारी

नई दिल्ली। भाजपा ने शनिवार को बंगाल चुनाव के लिए 57 प्रत्याशियों की पहली सूची जारी कर दी। इसमें सबसे महत्वपूर्ण नाम सुवेंदु अधिकारी का है। जो नंदीग्राम सीट से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ भाजपा प्रत्याशी होंगे। यह सीट अब बंगाल की सबसे आकर्षक सीट बन गई है।  भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह शनिवार की शाम 6:30 बजे दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय एक संवाददाता सम्मेलन में भाजपा के 57 उम्मीदवारों की सूची जारी की। जिसमें नंदीग्राम से शुभेंदु अधिकारी के नाम का ऐलान किया गया है, जो टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी के खिलाफ जंग लडेंगे। भाजपा महासचिव अरुण सिंह ने सूची जारी करते हुए कहा कि भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए 57 सीटों पर उम्मीदवारों के नामों को मंजूरी दी है। नंदीग्रााम में सीएम ममता बनर्जी का सुवेंदु अधिकारी से मुकाबला होगा। खड़गपुर से तपन भुइया, मेदिनीपुर से संबित दास, नयाग्राम से बाकुल मुर्मू, झारग्राम से सुकमय सतपति, बिनपुर सालन सरीन। सुवेंदु अधिकारी ममता के खास करीबी मंत्री थे। कुछ माह पूर्व ही वे टीएमसी छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे। बंगाल चुनाव में नंदीग्राम सीट अब सबसे आकर्षक व कड़ी चुनौती वाली होगी। देखना दिलचस्प होगा कि सुवेंदु अधिकारी किस तरह से ममता बनर्जी का सामना करेंगे। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अपनी परंपरागत भवानीपुर सीट छोड़कर नंदीग्राम पहुंची हैं। टीएमसी के सूची में उन्हें वहां से प्रत्याशी बनाया गया है। इस पर टीएमसी नेताओं ने कहा थाा कि सुवेंदु संभवत: यहां से चुनाव नहीं लड़ेंगे, लेकिन भाजपा ने उन्हें नंदीग्राम से टिकट देकर ममता व तृणमूल कांग्रेस की चुनौती स्वीकार कर ली है।

भाजपा में शामिल हुए दिनेश त्रिवेदी-तृणमूल कांग्रेस के पूर्व सांसद दिनेश त्रिवेदी बीजेपी अध्यक्ष की मौजूदगी में भाजपा में शामिल हो गए। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने दिनेश त्रिवेदी का स्वागत किया। नड्डा ने कहा कि दिनेश त्रिवेदी ने राज्यसभा की सीट तक छोड़ दी। अब सही व्यक्ति सही पार्टी में है। दिनेश त्रिवेदी ने 12 जनवरी को तृणमूल कांग्रेस से इस्तीफा दिया था। इस मौके पर दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि बंगाल की जनता ने तृणमूल कांग्रेस को नकार दिया है। बंगाल की जनता तरक्की चाहती है वो हिंसा और भ्रष्टाचार नहीं चाहती। राजनीति कोई ‘खेला’ नहीं होता, ये एक गंभीर चीज है। खेलते-खेलते वो(ममता बनर्जी) आदर्श भूल गई ।

उपचुनावः कन्याकुमारी लोकसभा सीट से राधाकृष्णन भाजपा प्रत्याशी-भारतीय जनता पार्टी ने वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पोन राधाकृष्णन को तमिलनाडु की कन्याकुमारी लोकसभा सीट पर छह अप्रैल को होने वाले उपचुनाव के लिए शनिवार को अपना उम्मीदवार घोषित किया। पिछले साल अगस्त में कोविड-19 के संक्रमण से कांग्रेस सांसद एच वसंत कुमार के निधन के कारण यह उपचुनाव हो रहा है। भाजपा ने शुक्रवार रात दक्षिण भारत में अपनी सहयोगी अन्नाद्रमुक से राज्य में छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए सीट बंटवारे के मुद्दे पर समझौता किया। अन्नाद्रमुक ने भाजपा को कन्याकुमारी लोकसभा सीट के साथ 20 विधानसभा सीटें दी हैं और चुनाव में भाजपा उम्मीदवारों को पूरा समर्थन देने की बात कही है। राधाकृष्णन 2014 में कन्याकुमारी लोकसभा सीट से विजयी रहे थे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार में राज्य मंत्री बने थे। लेकिन 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्हें इसी संसदीय क्षेत्र में कुमार से शिकस्त मिली थी।

More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.