Press "Enter" to skip to content

दिल्‍ली में बर्ड फ्लू की दस्तक,100 से ज्‍यादा कौओं की मौत से मचा हड़कंप

नई दिल्ली। देशभर में फैले बर्ड फ्लू के  बाद अब दिल्‍ली में भी कौवों की मौत से हड़कंप मच गया है। दिल्ली के मयूर विहार पेज तीन स्थित ए-2 सेंट्रल पार्क में 100 से ज्‍यादा कौवों की मौत का मामला सामने आया  है। हाल ही में पार्क का एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें कौवों की  मौत की तस्वीरें दिखाई गई हैं। यह अंदेशा जताया गया है कि इनकी मौत बर्ड फ्लू के चलते हुई है। वीडियो वायरल होने के बाद न्‍यूज 18 ने तफ्तीश की और उसी सेंट्रल पार्क में पहुँच गए। जहां मिले पार्क के केयर टेकर टिंकू चौधरी ने बताया कि हाल ही में इस पार्क में कुछ कौए मृत अवस्‍था में मिले हैं। जबकि कुछ कौओं की हालत काफी खराब थी और वे मरने की  स्थिति में  थे। अब तक करीब 100 से ज्यादा कौए मर चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक दिल्ली सरकार के दो डॉक्टरों की टीम भी आज इस पार्क में मौका मुआयना करने पहुची थी। एक और टीम मृत कौओं को लेकर लैब में परीक्षण करने ले जाएगी, कि आखिर दिल्ली के इस पार्क में कौवों की मौत की असल वजह क्या है, क्योंकि जिस तरह से देश के कुछ राज्यों में वर्ड फ्लू ने दस्तक की है उंसके बाद दिल्ली में संदिग्ध हालत में कौवो की मौत चिंता का विषय है।

केंद्र सरकार पूरी तरह अलर्ट-उधर बर्ड फ्लू को लेकर केंद्र अलर्ट है और सभी राज्यों को तैयार रहने को कहा है। शुक्रवार को जारी एक सरकारी बयान के अनुसार दिल्ली के हस्‍तसाल गांव के डीडीए पार्क में 16 पक्षियों की असामान्य मृत्यु भी दर्ज की गई है। एनसीटी दिल्ली के एएच विभाग ने कथित तौर पर एहतियाती कदम उठाए हैं और नमूने आईसीएआर-एनआईएचएसएडी को भेज दिए हैं और जांच रिपोर्ट का इंतजार है। केंद्रीय पशुपालन मंत्रालय ने बताया कि हरियाणा के पंचकुला जिले में मुर्गी पालने वाले दो फार्मों में आईसीएआर-एनआईएचएसएडी से एवियन फ्लू के पॉजीटिव नमूने मिलने, गुजरात के जूनागढ़ जिले में प्रवासी पक्षियों और राजस्‍थान के सवाई माधोपुर, पाली, जैसलमेर और मोहर जिलों में कौओं में पॉजीटिव नमूने मिलने की पुष्टि होने के बाद विभाग ने प्रभावित राज्‍यों को सुझाव दिया है कि वे एवियन फ्लू बीमारी को रोकने के लिए कार्य योजना के अनुसार काम करें। अब तक छह राज्यों (केरल, राजस्थान, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और गुजरात) में इस बीमारी की पुष्टि हो चुकी है। यह जानकारी प्राप्त हुई है कि केरल के दोनों प्रभावित जिलों में इस बीमारी से प्रभावित मुर्गियों को मारने का काम पूरा हो चुका है। संक्रमण को समाप्‍त करने की प्रक्रिया चल रही है। एवियन फ्लू से अप्रभावित राज्यों से आग्रह किया गया है कि वे पक्षियों के बीच किसी भी असामान्य मृत्यु दर पर नजर रखें और तुरंत इसकी जानकारी दें ताकि आवश्यक उपाय तेजी से किए जा सकें। निगरानी और महामारी विज्ञान से जुड़ी जांच के लिए केरल, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश के प्रभावित राज्यों का दौरा करने के लिए केन्‍द्रीय टीमों को तैनात किया गया है। वहीं स्वास्थ्य मंत्रालय से इस संबंध में उचित सलाह जारी करने का अनुरोध किया गया है ताकि अफवाहों से प्रभावित उपभोक्ता के विश्वास को बहाल किया जा सके। साथ ही, राज्यों से पोल्ट्री या पोल्ट्री उत्पादों की सुरक्षा के बारे में जागरूकता बढ़ाने का अनुरोध किया गया है जो उबलने/ खाना पकाने के बाद खपत के लिए सुरक्षित हैं, जिसके लिए केन्‍द्रीय सहयोग उपलब्ध रहेगा।

More from खबरMore posts in खबर »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.