Press "Enter" to skip to content

जम्मू-कश्मीर के सांबा सेक्टर में सीमा पर मिली सुरंग, रेत से भरी बोरियों पर पाकिस्तान की मार्किंग

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के सांबा सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर क्षेत्र के नजदीक एक सुंरग मिली है। ये सुरंग भारतीय सुरक्षाबलों को शुक्रवार को मिली थी। सुरंग को लेकर जम्मू में बीएसएफ के आईजी एनएस जम्वाल ने बताया कि शुक्रवार को टीम ने इस सुरंग को ढूंढ निकाली है। उन्होंने कहा कि यह 150 गज जीरो लैंड से भारत की तरफ खुदी हुई है।

उन्होंने कहा कि इसका एग्जिट प्वाइंट भी भारत की तरफ है और वहां पर रेत से भरी बोरी मिली हैं जिन पर पाकिस्तान की मार्किंग है। जम्वाल ने बताया है कि रेत से भरी बोरी की हालत देखने से लगता है कि ये टन्नल नई है। बॉर्डर एरिया में इतनी बड़ी सुरंग पाकिस्तान रेंजर्स और दूसरी एजेंसियों के अप्रूवल के बिना नहीं बन सकती। उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी सुंरग खोदने में जरूर पाकिस्तान एस्टाब्लिशमेंट का हाथ है। बताया जा रहा है कि यह सुरंग 20 फीट लंबी है और 3-4 फीट चौड़ी है। सुरंग के पास जो रेत की बोरी मिली है उस पर कराची और शकरगढ़ लिखा हुआ है। इसके अलावा रेत की बोरी पर टेलीफोन नंबर भी छपे हुए हैं। जैसा कि आमतौर पर सीमेंट की बोरियों पर छपा रहता है। जहां सुरंग मिली है वहां से पाकिस्तान की चौकी महज 400 मीटर की दूरी पर है। राज्य पुलिस के आतंकवाद विरोधी विंग के एक सूत्र ने कहा कि ऐसा लगता है कि पाकिस्तान ने इजरायल में प्रवेश करने के लिए भूमिगत सुरंग खोदने वाले हमास के लड़ाकों की नकल करनी शुरू कर दी है। ऐसा पहली बार नहीं है जब बीएसएफ ने बॉर्डर पर ऐसी सुरंगों का पता लगाया है। इससे पहले भी सुरंगे मिल चुकी है। पिछले साल सितंबर महीने में बीएसएफ ने पाकिस्तान के मंसूबों पर पानी फेरने के लिए बॉर्डर इलाके में सुरंगों का पता लगाने के लिए सर्च अभियान चलाया था। अधिकारियों ने बताया कि बीएसएफ महानिदेशक राकेश अस्थाना ने सीमा पर तैनात कमांडरों को निर्देश दिया है कि वे सुनिश्चित करें कि सीमा पर घुसपैठ रोधी प्रणाली प्रभावी रहे और इस सीमा पर कोई खामी नहीं रहे। जम्मू के सांबा सेक्टर में बृहस्पतिवार को बीएसएफ जवानों को गश्त के दौरान भारतीय क्षेत्र में सीमा पर बाड़बंदी के पास स्थित इस सुरंग का पता चला।

आपरेशन के दौरान सात आतंकवादी ढेर

जम्मू कश्मीर पुलिस और राष्ट्रीय रिजर्व (आरआर) बटालियन की शुक्रवार से चली करीब 18 घंटे की कार्रवाई के दौरान 7 आतंकियों को मार गिराया गया। जम्मू कश्मीर जनरल ऑपरेशन कमांडिंग (जीओसी), विक्टर फोर्स ए. सेनगुप्ता ने बताया कि इस दौरान एक आतंकी ने सरेंडर भी किया है। ए. सेनगुप्ता ने बताया कि शनिवार को बताया कि आतंकवादियों में से 7 को 2020 में भर्ती किया गया था। इन गुमराह युवाओं को पाकिस्तानी आतंकवादियों, पाकिस्तानी संचालकों और देश विरोधी भावना वाले लोगों द्वारा झूठे वादों के साथ भर्ती किया गया था। जम्मू कश्मीर के सांबा सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर क्षेत्र के नजदीक एक सुंरग मिली है। ये सुरंग भारतीय सुरक्षाबलों को शुक्रवार को मिली थी। सुरंग को लेकर जम्मू में बीएसएफ के आईजी एनएस जम्वाल ने बताया कि शुक्रवार को टीम ने इस सुरंग को ढूंढ निकाली है। उन्होंने कहा कि यह 150 गज जीरो लैंड से भारत की तरफ खुदी हुई है।

इसे भी पढ़ें-जम्मू कश्मीर प्रशासन के सुचारू कामकाज के लिये नियम जारी

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.