Press "Enter" to skip to content

राज्यसभा की सामान्य प्रयोजन समिति का सभापति ने किया पुनर्गठन

नई दिल्ली। राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने उच्च सदन की सामान्य प्रयोजन समिति का पुनर्गठन करते हुये इसमें सात नये सदस्यों को शामिल किया है। राज्यसभा सचिवालय के सूत्रों के अनुसार नायडू द्वारा किये गये 29 सदस्यीय समिति के पुनर्गठन को 15 नवंबर से प्रभावी माना जायेगा।

समिति में राज्यसभा के पदेन सदस्य के रूप में नेता सदन थावरचंद गहलोत को शामिल किया गया है। उन्हें सदन के दिवंगत नेता अरुण जेटली की जगह समिति में शामिल किया गया है। राज्यसभा के उपसभापति, नेता सदन और नेता प्रतिपक्ष, समिति के पदेन सदस्य होते हैं।सभापति की अध्यक्षता वाली सामान्य प्रयोजन समिति में उपाध्यक्ष के पैनल में पूर्व सदस्य भुवनेश्वर कालिता की जगह कांग्रेस के एम वी राजीव गौड़ा को शामिल किया गया है। कांग्रेस के भुवनेश्वर कालिता ने हाल ही में राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। इससे पहले पिछले साल 27 अक्टूबर को समिति पुनर्गठित की गयी थी। उस समय सामान्य प्रयोजन समिति में शामिल किये गये सदस्यों में पी चिदंबरम, नारायण लाल पंचारिया, नरेश गुजराल, वाई एस चौधरी, प्रेमचंद्र गुप्ता, एम पी वीरेन्द्र कुमार और के जी केनी को नवगठित समिति में शामिल नहीं किया गया है। पुनर्गठित समिति में इनकी जगह अमर सिंह, प्रभाकर रेड्डी, वीरेन्द्र प्रसाद वैश्य, वी विजय साई रेड्डी, जयराम रमेश और टी जी वेंकटेश को शामिल किया गया है।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.