Press "Enter" to skip to content

ट्रेनों पर कोरोना वायरस का असर, यात्रा से परहेज कर रहे हैं लोग, नहीं हो रही बुकिंग

नई दिल्ली। कोरोना काल में लोगों ने ट्रेन से भी दूरी बना ली है। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लोग सफर करने में परहेज कर रहे  हैं। आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए ढील तो दी जा रही है, लेकिन देश की  लाइफ लाइन मानी जाने वाली ट्रेन जो पहले यात्रियों से खचाखच भरी रहती थी। उनमें अब आसानी से सीट मिल रही है। रेल मंत्रालय ने 12 सितंबर से 40 जोड़ी और स्पेशल ट्रेन चलाने की घोषणा की है। इसके लिए गुरुवार से टिकट बुकिंग की सुविधा शुरू कर दी गई है। वहीं पूर्वांचल की ओर जाने वाली ट्रेनों की 90 फीसदी से अधिक सीटें खाली रह गई है। कोरोना काल से पहले वंदे भारत ट्रेन से यात्रा करने वालों का जोश सिर चढ़ कर बोल रहा था। लेकिन अनलॉक 4 के बाद इस ट्रेन से यात्रा करने को लोग तैयार नहीं हैं। शनिवार को वंदे भारत ट्रेन एक बार फिर पटरी पर उतर रही है। इसी तरह नई दिल्ली लखनऊ शताब्दी भी रविवार से चलने लगेगी। दोनों ट्रेनों की बुकिंग भी शुरु कर दी गई है। हैरत है दोनों ट्रेनों में 95 फीसदी से अधिक सीटें खाली हैं। साथ ही लखनऊ शताब्दी में महज 50 सीट ही भरी हैं। एसी प्रथम का तो और बुरा हाल है, महज दो सीट ही भरी हैं। हालांकि ट्रेन संख्या 2562 स्वतंत्रता सेनानी के स्लीपर कोच में गुरुवार को बुकिंग हुई। इसमें आरएससी टिकट उपलब्ध है। स्पेशल ट्रेन का टिकट आसानी से मिल रहा है। गोरखपुर-दिल्ली-गोरखपुर के बीच चलने वाली गोरखधाम एक्सप्रेस में 3 से 12 वेटिंग टिकट मिल रहा है। हमसफर में सीट उपलब्ध है। सुहेलदेव लखनऊ मेल समेत अन्य ट्रेनों में भी बहुत अधिक वेटिंग सूची नहीं है।

More from खबरMore posts in खबर »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.