Press "Enter" to skip to content

चीन से तनातनी के बीच हवाई ताकत बढ़ा रहा भारत, रूस से खरीदेगा 33 फाइटर जेट

नई दिल्ली। लद्दाख सीमा पर चीन के साथ चल रहे तनातनी के बीच भारत ने अपनी हवाई ताकत बढ़ानी शुरू कर दी है। बृहस्पतिवार को भारत ने रूस से 33 फाइटर जेट विमान खरीदने के सौदे को मंजूरी दे दी। इसके पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन से फोन पर बात की और 2036 तक उन्हें राष्ट्रपति बने रहने का संविधान संशोधन पारित होने पर बधाई दी।

जानकारी के मुताबिक रक्षा मंत्रालय ने रूस से 12 सुखोई-30 लड़ाकू विमान और 21 मिग-29 फाइटर जेट की खरीद का सौदा फाइनल कर दिया है। इसके अलावा मौजूदा 59 मिग-29 को अपग्रेड भी करवाया जाएगा। यह करीब 18,148 करोड़ रुपये का सौदा होगा। इन विमानों के आने से भारतीय एयरफोर्स की लंबे समय से लंबित मांग की काफी हद तक पूर्ति हो जाएगी। लद्दाख से सीमा पर चल रही तनातनी के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 22 जून को विक्ट्री डे में हिस्सा लेने रूस की यात्रा पर गए थे।  बताया गया कि इसी दौरान उन्होंने रूस के राष्ट्रपति ब्लादीमीर पुतिन से इन फायटर विमानों को लेकर चर्चा की। बृहस्पतिवार को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बधाई देने के लिए पुतिन को फोन किया तो बातचीत में दोनों नेताओं ने इस सौदे को मंजूरी दे दी गई।

इसके साथ ही रक्षा मंत्रालय ने 248 एस्ट्रा एयर मिसाइल की खरीद की भी इजाजत दे दी है। यह भारतीय एयरफोर्स के साथ ही नेवी के भी काम आएगी। वहीं डीआरडीओ द्वारा बनाई गई एक हजार किलोमीटर रेंज वाली क्रूज मिसाइल की डिजाइन को भी मंजूरी मिल गई है। रक्षा मंत्रालय ने बताया कि रक्षा अधिग्रहण परिषद ने कुल 38,900 करोड़ रुपये के प्रस्तावों को मंजूरी दी है। इसमें 31 हजार करोड़ रुपये भारतीय उद्योगों से होंगे। इन पैसों से पिनाक रॉकेट लॉन्चर का गोला-बारूद खरीदा जाएगा। साथ ही लड़ाकू वाहनों को भी अपग्रेड किया जाएगा।

इसी महीने राफेल भी आ रहा है

भारतीय हवाई युद्धक क्षमता को बढ़ाने में सबसे बड़ा मददगार बनने जा रहा है राफेल फाइटर विमान। भारत राफेल विमानों की खरीद फ्रांस से कर रहा है, जिसकी पहली खेप में 6 विमान इसी महीने 27 तारीख तक आने की उम्मीद है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपनी पिछली फ्रांस यात्रा के दौरान इन विमानों का निरीक्षण कर चुके हैं, जब उन्हें भारतीय पायलटों को सौंपा गया था। फिलहाल भारतीय एयरफोर्स के पायलट फ्रांस में इन विमानों का प्रशिक्षण ले रहे हैं।

 

इसे भी पढ़ें—रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 22 जून को करेंगे रूस का दौरा  

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.