Press "Enter" to skip to content

दिल्ली: संक्रमित पत्रकार ने एम्स की इमारत से कूदकर आत्महत्या

नई दिल्ली। दिल्ली के एम्स ट्रॉमा सेंटर में कोविड-19 का इलाज करा रहे 37 वर्षीय एक पत्रकार ने सोमवार दोपहर अस्पताल की इमारत की चौथी मंजिल से कूदकर अपनी जान दे दी। पुलिस ने यह जानकारी देते हुए बताया कि पूर्वोत्तर दिल्ली के भजनपुरा में रहने वाला दैनिक भास्कर के पत्रकार तरुण सिसोदिया जिसने आत्महत्या की है। एक डॉक्टर ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि यह घटना दोपहर लगभग दो बजे हुई, जिसके बाद उस व्यक्ति को अस्पताल के आईसीयू में ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे बचाने की कोशिश की। पुलिस उपायुक्त (दक्षिण-पश्चिम) देवेंद्र आर्य के अनुसार, 24 जून को संक्रमण की पुष्टि होने के बाद पत्रकार को ट्रामा सेंटर के कोविड-19 वार्ड में भर्ती कराया गया था।एम्स के एक सूत्र ने कहा, “उन्हें 24 जून को एम्स ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया था और बाद में ‘हाई डिपेंडेंसी यूनिट’ में भेज दिया गया था।”डॉक्टर ने कहा कि हाल ही में उनकी ब्रेन ट्यूमर की सर्जरी हुई थी।

आत्महत्या पर उठे सवाल-दूसरी और सूत्रों का कहना है कि युवा पत्रकार तरुण सिसोदिया का यहां कोरोना इलाज चल रहा था। लेकिन उनके अचानक उठाये गए इस कदम से कई सवाल है उठ रहे हैं। बताया जा रहा है 5 दिन से उसे ऑक्सीजन की ज़रूरत नहीं थी, बिना ऑक्सीजन का चल रहा,, फिर भी उसे आईसीयू में क्यों रखा गया? जब आईसीयू में भर्ती  तो, 4फ्लोर पर कैसे पहुँचा और शीशा तोड़ कर कूदा? आईसीयू में 5 दिन से बच्चों और परजिनों से बातचीत करना चाह रहा था, पर बात नहीं कराई गई और उसका मोबाइल छीनकर कर रख लिया गया था? इलाज को लेकर कई बार फोन करके शिकायत भी कर चुका? पत्रकार संगठनों ने इस मामले की गंभीरता को लेते हुए जांच कराने की मांग की है। यह मामला केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय तक भी पहुंच चुका है।

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.