Press "Enter" to skip to content

कोरोना काल में चुनाव:चुनाव आयोग ने प्रचार अभियान पर राजनीतिक दलों से मांगे सुझाव

नई दिल्ली। भारतीय चुनाव आयोग ने शनिवार को सभी राष्ट्रीय और क्षेत्रीय राजनीतिक दलों को कोविड-19 महामारी के मद्देनजर चुनाव अभियान और सार्वजनिक बैठकों को आयोजित करने को लेकर अपने विचार और सुझाव भेजने के लिए कहा है। सुझाव भेजने की अंतिम तिथि 31 जुलाई है। गौरतलब है कि इस साल कुछ राज्यों में उपचुनाव और बिहार विधानसभा चुनाव होने हैं। आयोग ने अपने पत्र में देश में कोविड-19 के मौजूदा हालात की ओर इशारा किया। आयोग ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारें सुरक्षा सुनिश्चित करने और देश में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 और कुछ अन्य कानूनों के तहत दिशानिर्देश जारी कर चुकी हैं। चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को 31 जुलाई 2020 तक अपनी राय और सुझाव भेजने के लिए कहा है। ताकि महामारी के दौरान होने वाले चुनावों में राजनीतिक दलों और उम्मीदवारों द्वारा प्रचार किए जाने को लेकर जरूरी दिशानिर्देश तैयार किए जा सकें। इससे पहले बिहार के विभिन्न विपक्षी राजनीतिक दलों ने शुक्रवार को चुनाव आयोग से कहा कि वह मतदाताओं को आश्वस्त करे कि आगामी विधानसभा चुनाव संक्रमण के फैलने का बड़ा कारण नहीं बनेंगे। साथ ही उन्होंने सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए हर मतदान केंद्र पर मतदाताओं की संख्या 250 तक सीमित करने का भी अनुरोध किया। विपक्षी दलों ने शुक्रवार शाम आयोग के अधिकारियों के साथ डिजिटल बैठक की। इससे पहले उन्होंने चुनाव आयोग को एक ज्ञापन सौंपकर राज्य में कोरोना वायरस से उत्पन्न हालात की ओर ध्यान दिलाया था।

More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.