Press "Enter" to skip to content

कई मंदिरों, घरो में गोवर्धन पूजा हुई, अन्नकूट बना,श्रद्धालुओ ने किया ग्रहण

मुजफ्फरनगर। पंचमहोत्सव दीपावली के चौथे दिन सोमवार को सभी घरों में गोबर के कूट बनाकर उनकी पूजा अर्चना हुई। मंदिरों में अन्नकूट के प्रसाद का वितरण हुआ। बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने अन्नकूट के प्रसाद को ग्रहण किया। विद्वानों का मानना है कि अन्नकूट जैसे कार्यक्रम जात-पात, छोटा-बड़ा, ऊंच-नीच, छूआछूत का भेदभाव मिटाते हैं। ऐसे कार्यक्रमों से आपसी प्यार मोहब्बत, भाईचारा, शांति, एकता को बढ़ावा मिलता है।

बिंदल बाजार स्थित माता वाले मंदिर में गोवर्धन पूजा उपरान्त अन्नकूट का भंडारा हुआ। जहां सैकडो श्रृद्धालुओ ने कतारबद्द हो अन्नकूट का प्रसाद ग्रहण किया। मंदिर समिति के अध्यक्ष विनोद सिंघल, वरिष्ठ पदाधिकारी मनमोहन सिंघल,अनिल सिंघल,दिनेश सिंघल, सचिन सिंघल,राहुल सिंघल,मुकेश छारिया, प्रमोद सिंघल, मन्दिर के मुख्य पुजारी पंडित सुधाकर भारद्वाज आचार्य आदि की उपस्थिति में प्रसाद का वितरण हुआ।
नई मंडी स्थित गऊशाला में सोमवार को गोवर्धन पूजा हुई। पूजा-अर्चना के लिए श्रद्धालुओं की लंबी कतारें लगी रहीं। गोवर्धन को फूल-मालाओं से सजाया गया। इस दौरान गोवर्धन पर्वत, शेषनाग, रुकमणि आदि की झांकियां निकली गईं।
गोवर्धन की विधि-विधान से पूजा-अर्चना की। इससे पूर्व गोवर्धन पूजा के लिए विधि-विधान से हवन हुआ। गोवर्धन पर्वत और शेषनाग की झांकियों ने सबका मन मोह लिया। रुकमणि और सत्य बाबा पर आधारित नृत्य नाटिकाओं को देखने के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। गऊशाला प्रांगण में एक दिवसीय मेला लगाया गया, जिसे देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे। गऊशाला सभा में गोवर्धन पूजा पर वार्षिक अधिवेशन भी हुआ।
नई मंडी रामलीला भवन में गोवर्धन के अवसर पर अन्नकूट के प्रसाद का वितरण हुआ। श्रीरामलीला कमैटी के अध्यक्ष संजय मित्तल, मंत्री व पदाधिकारियों की मौजूदगी में अन्नकूट का प्रसाद वितरित किया गया। इस दौरान अनेक श्रद्धालुओं ने श्रद्धाभाव के साथ प्रसाद ग्रहण किया। वहीं  विश्वकर्मा एकता समिति उत्तर प्रदेश ने विश्वकर्मा चौक पर गोवर्धन और विश्वकर्मा की विशेष पूजा अर्चना की। इस दौरान अनेकों श्रद्धालु मौजूद रहे।बीएसएनएल कर्मचारियों ने शिव चौक स्थित गौरी शंकर मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना की। पूजन एसडीओ वाईपी सिंह ने किया। इसके बाद कर्मचारियों ने अन्नकूट का वितरण किया। इसमें सैकड़ों लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया। दैनिक रेल यात्री संघ ने सिद्धपीठ प्राचीन पिपलेश्वर महादेव मंदिर में अन्नकूट का वितरण किया। इस दौरान अनेकों श्रद्धालु मौजूद रहे।
सोमवार की शाम सभी घरों में गोबर से भगवान गोवर्धन की प्रतिमाएं बनाई गई। प्रतिमा के समक्ष शस्त्र-शास्त्र, गन्ना, किसानों ने अपने कृषि यंत्र रखकर पूजा की। इससे पूर्व दिन में मंदिरों में भगवान श्रीकृष्ण समेत इन्द्र, वरुण, अग्नि आदि देवताओं की पूजा अर्चना हुई। भगवान को भोग लगाने के बाद प्रसाद का वितरण हुआ। मंदिरों में अन्नकूट के कार्यक्रम हुए। अन्नकूट के रूप में कढ़ी चावल, मिश्रित सब्जियां, पूरी आदि बनाकर उनका वितरण हुआ। रेशू विहार, लक्ष्मण विहार, एसडी न्यू मार्केट स्थित शिव मंदिर, नवीन मंडी स्थल स्थित शिव मंदिर, भरतिया कालोनी स्थित माता राजरानी मंदिर, गणेश धाम मंदिर, बालाजी धाम मंदिर, शिवचौक, आदर्श कालोनी स्थित मंदिर, डल्लू देवता मंदिर समेत,अग्रसैन विहार कालोनी खाटू श्याम शिव दुर्गा मन्दिर, महावीर चौक स्थित नहरवाई कालोनी के शिव मन्दिर मे तथा दुर्गा मन्दिर ब्रह्मपुरी, कृष्णापुरी, गांधीनगर स्थित हनुमान दक्षिणामुखी मंदिर, श्यामाश्याम मंदिर, गांधी कालोनी स्थित गोलोक धाम मंदिर समेत शहर के अधिकांश मंदिरों में अन्नकूट के प्रसाद का वितरण हुआ। बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने पंक्तियों में बैठकर प्रसाद को ग्रहण किया।

श्री राम दरबार मंदिर दक्षिणी रामपुरी में गोवर्धन व विश्वकर्मा पूजा के उपलक्ष्य में विशाल भंडारे का आयोजन हुआ। भंडारे का शुभारंभ भगवान गोवर्धन व विश्वकर्मा को भोग लगाकर किया। बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया। इस दौरान पवन पांचाल, अशोक धीमान, देशपाल पांचाल, रमेश पांचाल, रामपाल धीमान, जगदीश पांचाल, नरेश पांचाल, मयंक पांचाल, ब्रजपाल, हर्षित, हंसपाल, हरबपाल, सुमित, नरेश प्रजापति, राजकुमार, शेरपाल, ओमप्रकाश आदि का सहयोग रहा। अन्नकुट के अवसर पर नगर के विभिन्न मंदिरो मे प्रसाद वितरण व पूजा पाठ से नगर का वातावरण पूरी तरह धर्ममय बना रहा। पिछले कई दिनो से दीपावली की तैयारियों मे जुटे दुकानदारो ने दीपावली का पर्व शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न हो जाने के बाद आज अन्नकूट के पावन अवसर पर बाजार के आसपास मंदिरो मे प्रसाद ग्रहण किया तथा देर शाम सभी लोगो ने अपने परिवार के साथ गउशाला रोड स्थित नई मन्डी गौशाला मे चल रहे महोत्सव मे श्री गोवर्धन महाराज की पूजा अर्चना की तथा सुन्दर-सुन्दर झांकिया देखी। इस दौरान पुलिस प्रशासन की और से विभिन्न व्यवस्थाऐ सुनिश्चित की गई थी। गउशाला व उसके आसपास मेला क्षेत्र मे पर्याप्त मात्रा मे पुलिसबल तैनात रहा। वही नदीघाट स्थित प्राचीन देवी मंदिर सिद्धपीठ के प्रागंण में विशाल भंडारा आयोजित किया गया जिसमें भारी संख्या में श्रद्धालुओं ने भोजन व प्रसाद ग्रहण किया।
संस्था के अध्यक्ष श्याम पुंडीर ने बताया कि भंडारे में पंडित रमन शर्मा, ठा. रामपाल, गौरव शर्मा, दीपक कौशिक, सागर कौशिक, दीपक चौधरी, संदीप ठाकुर, बोबी शर्मा, सोनू शर्मा, श्रीपाल, विष्णु शर्मा आदि का उल्लेखनीय योगदान रहा।
कायस्थवाडा दालमंडी स्थित प्राचीन शिवमंदिर में अन्नकूट के अवसर पर एक विशाल भंडारा आयोजित किया गया। जिसमें प्रमोद, सतीश गर्ग ठेकेदार, मंयक मोहन कौशिक, संतोष एडवोकेट, अवनीश ठेकेदार का उल्लेखनीय योगदान रहा।
सुभाषनगर स्थित शिवमंदिर में अन्नकूट पर आयोजित भंडारे में संयोजक बंटी ने बताया कि पं. योगेश कौशिक एवं पं. संजीव शर्मा के निर्देशन में मनोज भगत जी, राहुल अग्रवाल, भूपेंद्र चौधरी, नरेंद्र बेदी, सुबोध त्यागी, अमित मैनी, जोगेंद्र उपाध्याय, आशु, राहुल चौधरी, गुल्लू उर्फ अमित शर्मा आदि का उल्लेखनीय योगदान रहा। इस कार्य की देखरेख कालूराम वर्मा गुरूजी ने की।

More from खबरMore posts in खबर »
More from शहरनामाMore posts in शहरनामा »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.