Press "Enter" to skip to content

इस बार शहीद दिवस पर एक साथ देश रखेगा मौन,केंद्र ने शहीद दिवस को लेकर राज्यों को लिखी चिट्ठी

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने 30 जनवरी को शहीद दिवस को लेकर सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को निर्देश जारी किया है। हर बार की तरह इस बार भी महात्मा गांधी के निधन की तारीख को शहीद दिवस के रूप में मनाया जाएगा। केंद्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को प्रधान सचिवों को नाम भेजे गए पत्र में देश के स्वतंत्रता संग्राम में शहीद हुए लोगों की याद में 30 जनवरी को दोपहर 11 बजे दो मिनट का रखने को कहा गया है। इस दौरान किसी भी तरह के सामान्य कामकाज और आवाजाही पर रोक रहेगी। पत्र में दिए गए दिशानिर्देशों के अनुसार 30 जनवरी को दोपहर 11 बजे पूरे देश में दो मिनट का मौन रखा जाएगा। इस दौरान किसी भी तरह का कामकाज और आवाजाही नहीं होनी चाहिए। जहां भी संभव हो दो मिनट का मौन शुरू होने से पहले और खत्म होने के बाद सायरन या आर्मी गन से सिगनल देना होगा। सायरन 10.59 बजे से 11 बजे तक बजेगा। वहीं 11.02 मिनट पर भी सायरन को दोबारा बजाया जाएगा।

शहीद दिवस की गंभीरता सुनिश्चत करें राज्य-सिगनल सुनते ही सभी लोगों को अपने स्थान पर खड़े होकर मौन धारण करना होगा। जहां सिगनल सिस्टम उपलब्ध नहीं होगा वहां दो मिनट के मौन संबंधी उपयुक्त निर्देश जारी किए जा सकते हैं। पत्र में लिखा है, पहले यह पाया गया है कि कुछ ऑफिसेज में लोग दो मिनट के मौन के दौरान आम लोग सामान्य रूप से अपने कामकाज में लगे रहते हैं। इस अवसर पर ऐसा करना ठीक नहीं है। सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश यह सुनिश्चित करें कि शहीद दिवस की गंभीरता का ध्यान रखा जाए।

स्कूलों में होगी चर्चा और वाद विवाद कार्यक्रम-पत्र में कहा गया है कि सभी एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन और पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइजेज शहीद दिवस के मौके पर चर्चा, स्वतंत्रता संग्राम के विषय पर वाद विवाद से जुड़े कार्यक्रमों का आयोजन करें। इस दौरान कोविड-19 के दिशानिर्देशों और स्टैंडर्ड ऑपरेशन प्रोसिजर का कड़ाई से पालन करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.