Press "Enter" to skip to content

अस्पतालों में डिहाइड्रेशन के मरीजों के साथ आंखों के मरीजों की संख्या बढ़ी

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

मुजफ्फरनगर। इन दिनों अस्पतालों में डिहाइड्रेशन के मरीजों के साथ-साथ आंखों की बीमारी के मरीजों की संख्या काफी बढ़ गई है।जिला अस्पताल में कार्यरत आंखों के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ अरविंद गर्ग ने कहा है कि आंखों की सुरक्षा के लिए सावधानियां बरतने की जरूरत है। उन्होंने इस बारे में लोगों को कुछ टिप्स भी दिये हैं।

 डा. गर्ग ने बताया कि गर्मी में पसीना आने के कारण हमारी स्किन तो खराब होती ही है, साथ ही आंखों पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। धूल-मिट्टी ज्यादा होने की वजह से आंखों में इंफेक्शन हो सकता है। गर्मी में बढ़ते तापमान से तो आंखों को नुकसान पहुंचता ही है। खासकर सूरज से निकलने वाली अल्ट्रा वॉयलेट किरणों से आंखों की सुरक्षा करना बेहद जरूरी है, ऐसे में लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए। उन्होंने बताया कि गर्मी के कारण आंखों में मेलानोमा या लायमोफोमा जैसी कई तरह की बीमारियों का जोखिम बढ़ जाता है। अल्ट्रा वॉयलेट किरणें मौसम के साथ फैलती हैं, जिसकी गति प्रकाश से भी अधिक तेज होती है। यहां तक कि छाया में भी अल्ट्रा वॉयलेट किरणें मौजूद रहती हैं और कई समस्याएं उत्पन्न करती हैं। उन्होंने बताया कि इन दिनों कई तरह के संक्रमण होते हैं जो आंखों को प्रभावित करते हैं। आंखों में जलन, लालपन व खुजली होना अलग-अलग लक्षण हैं। अक्सर लोग इन लक्षणों को हल्के में लेकर छोड़ देते हैं, लेकिन ये आंखों के लिए काफी नुकसान पहुंचाने वाले हो सकते हैं।

गर्मियों में कुछ यूं रखें आंखों का ख्याल-
गर्मी और प्रदूषण होने की वजह से कई बार आंखों में जलन महसूस होती है। इसलिए ऐसे में दिन में तीन बार एक गिलास पानी से धीरे-धीरे छींटे मारकर अपनी आंखें धोएं। इससे आंखों की गंदगी बाहर निकलेगी।
 अत्याधिक ताप से आंखों को बचाने के लिए हमेशा ऐसे सनग्लासेज का चुनाव करना चाहिए जो दोनों आंखों को अच्छी तरह ढकते हों।
गर्मियों में लोग एसी के पास रहना पसंद करते हैं, लेकिन इससे आंखों ड्राई हो जाती हैं। इसलिए, एयरकन्डीशनर के एकदम सामने न बैठें।

हाइड्रेशन बेहद जरूरी –
नमी आंखों के स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है। प्रतिदिन कम से कम दो लीटर पानी जरूर पीएं ताकि आंखों और त्वचा को डिहाइड्रेशन से बचाया जा सके। डिहाइड्रेशन से आंखों में लुब्रिकेशन की कमी आ सकती है, जिससेजीरोफ्थलमिया (सूखी आंखें) जैसी बीमारी संभव है। पानी की पर्याप्त मात्रा आंखों को गर्मी के प्रभाव से बचाए रखती है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Be First to Comment

    प्रातिक्रिया दे

    आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

    Mission News Theme by Compete Themes.