Press "Enter" to skip to content

कोरोना काल में भारत कर रहा दुनिया की सेवा: पीएम मोदी, 50 से ज्यादा देशों को वैक्सीन भेजी कोरोना वैक्सीन

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम को लेकर वेबिनार को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना काल में भारत  दुनिया की सेवा करने में जुटा हुआ है और कम से कम 50 देशों को 50 देशों को ‘मेड इन इंडिया’ वैक्सीन दी गई है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में हम और देशों को वैक्सीन मुहैया कराने के लिए प्रतिबद्ध हैं।  कोरोना वायरस की वजह से ये कार्यक्रम डिजिटल तरीके से आयोजित इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पिछले 6-7 सालों में हमने मेक इन इंडिया को अलग-अलग स्तरों पर मजबूत करने के लिए कई कदम उठाए हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने इस कार्यक्रम में कहा कि हमारे सामने दुनियाभर से उदाहरण हैं जहां देशों ने अपनी मैन्यूफैक्चरिंग क्षमता को बढ़ाकर, देश के विकास को गति दी है। पीएम मोदी ने कहा कि बढ़ती हुई मैन्यूफैक्चरिंग क्षमता देश में रोजगार सृजन को भी उतना ही बढ़ाती हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारी नीति और रणनीति, हर तरह से स्पष्ट है। उन्होंने कहा कि हमारी सोच न्यूनतम सरकार और अधिकतम शासन की और हमारी अपेक्षा जीरो इफेक्ट और जीरो डिफेट है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारी सरकार मानती है कि हर चीज में सरकार का दखल समाधान के बजाय समस्याएं ज्यादा पैदा करता है। इसलिए हम स्व नियमन, स्व प्रमाणन पर जोर दे रहे हैं।

प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव से पूरे इकोसिस्टम को फायदा-प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ये पीएलआई (प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव) जिस सेक्टर के लिए है, उसको तो लाभ हो ही रहा है, इससे उस सेक्टर से जुड़े पूरे इकोसिस्टम को फायदा होगा। ऑटो और फार्मा में पीएलआई से,ऑटो पार्ट्स, मेडिकल इक्विपमेंट्स और दवाओं के रॉ मटीरियल से जुड़ी विदेशी निर्भरता बहुत कम होगी। पीएम मोदी ने आगे कहा कि अगले पांच साल में पीएलआई स्कीम के तहत भारत 520 बिलियन डॉलर के प्रोडक्ट मैन्यूफैक्चर किए जाएंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि इस वर्ष के बजट में पीएलआई स्कीम से जुड़ी इन योजनाओं के लिए करीब दो लाख करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। प्रोडक्शन का औसतन पांच फीसदी इंसेंटिव के रूप में दिया गया है।

‘वैक्सीन की लाखों खुराकें दुनियाभर में सप्लाई’-प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि भारत में आज जो विमान वैक्सीन की लाखों डोज लेकर दुनियाभर में जा रहे हैं, वो खाली नहीं आ रहे हैं। वो अपने साथ भारत के प्रति बढ़ा हुआ भरोसा, भारत के प्रति आत्मीयता, स्नेह और आशीर्वाद के साथ एक भावात्मक लगाव लेकर आ रहे है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत आज जिस तरह से मानवता की सेवा कर रहा है, इससे पूरी दुनिया में भारत अपने आप में बहुत बड़ा ब्रांड बन गया है। भारत की साख, भारत की पहचान निरंतर नई ऊंचाई पर पहुंच रही है।

भारत-स्वीडन के साथ शिखर वार्ता-मोदी ने स्वीडन के प्रधानमंत्री स्टीफन लोफवेन के साथ शिखर वार्ता में कहा कि जलवायु परिवर्तन का मुद्दा दोनों देशों के लिए प्राथमिकता में है, हमें इसके लिए साथ मिलकर काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम नवोन्मेष, प्रौद्योगिकी, निवेश, स्टार्ट-अप, अनुसंधान में दोनों देशों के रिश्तों को और आगे बढ़ा सकते हैं। भारत, स्वीडन स्मार्ट सिटी, जल शोधन, ‘सर्कुलर इकोनॉमी’, स्मार्ट ग्रिड, ई-मोबिलिटी समेत कई क्षेत्रों में संबंध प्रगाढ़ कर सकते हैं।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.