Press "Enter" to skip to content

कई राज्यों ने 256 श्रमिक स्पेशल ट्रेन की रद्द,अब तक चार हजार ट्रेनों में 58 लाख प्रवासी श्रमिक अपने घर पहुंचे

नई दिल्ली। श्रमिक विशेष ट्रेनों के समापन की ओर बढ़ने के बीच रेलवे के आंकड़े से पता चलता है कि एक मई से इस रविवार तक ऐसी 4040 ट्रेन चलाई गई और राज्यों द्वारा 256 रेलगाड़ियां रद्द की गईं। ऐसा करने वालों में महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक और उत्तर प्रदेश सबसे आगे रहे। रेल मंत्रालय के अनुसार महाराष्ट्र ने 105, गुजरात ने 47, कर्नाटक ने 38 तथा उत्तर प्रदेश ने 30 ट्रेन रद्द की। एक मई से इस बुधवार तक रेलवे ने 4197 श्रमिक ट्रेन चलायी। उनमें से 4116 ट्रेन अपनी यात्री पूरी कर चुकी हैं जबकि 81 रास्ते में हैं। अब केवल 10 और श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलने वाली है। रेलवे के अधिकारी ने कहा कि दिल्ली सरकार की ओर से अब कोई नई मांग नहीं होने के कारण दिल्ली से श्रमिक विशेष ट्रेनों का संचालन समाप्त किया जाता है। रेलवे ने कहा कि अगर दिल्ली सरकार की ओर से नए सिरे से मांग आती है तो श्रमिक विशेष ट्रेन चलाई जाएगी। एक मई से दिल्ली के रेलवे स्टेशनों से 242 ट्रेन चलाई गईं, 101 उत्तर प्रदेश गईं, 111 ट्रेन बिहार पहुंची।

अब तक चलाई गई 4197 ट्रेनें-रेलवे के अनुसार एक मई से तीन जून सुबह दस बजे तक रेलवे ने प्रवासी श्रमिकों की घर वापसी कराने के लिए 4197 ट्रेनें चलाई हैं, जिनमें शीर्ष पांच राज्य व केंद्र शासित प्रदेश ऐसे हैं, जहां से अधिकतम ट्रेनें निकली हैं, इनमें गुजरात (1026 ट्रेनें), महाराष्ट्र (802 ट्रेनें), पंजाब (416 ट्रेनें), उत्तर प्रदेश (294 ट्रेनें) और बिहार से (294 ट्रेनें) उत्पत्ति हुई है। वहीं शीर्ष पांच राज्य जहां इन ट्रेनों ने सफर समाप्त किया है, उनमें उत्तर प्रदेश (1682 ट्रेनें), बिहार (1495 ट्रेनें), झारखंड (197 ट्रेनें), ओडिशा (187 ट्रेनें), पश्चिम बंगाल (156 ट्रेनें) शामिल हैं।

रेलवे ने यात्रियों को लौटाए 1885 करोड़ रुपए-कोरोना वायरस महामारी के दौरान कैंसिल किए गए टिकटों के एवज में उत्तर रेलवे ने यात्रियों को 1885 करोड़ रुपये लौटा दिया है। इन ट्रेनों को भारतीय रेल ने देश भर में कोरोना वायरस महामारी के फैलाव को रोकने के लिए रद्द की थी। उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी दीपक कुमार ने बताया कि इन टिकटों की बुकिंग 21 मार्च से 31 मई के बीच ऑनलाइन की गई थी। इस दौरान यात्रियों को पृरी रकम लौटायी गयी है। उन्होंने यह भी बताया कि रेलवे ने यह रकम उन अकाउंट्स में लौटा दिया है, जिसके जरिये टिकट खरीदे गए थे। इसके साथ ही रेलवे ने यह भी दावा किया है कि सभी रकम को तय समय सीमा के भीतर लौटाया गया है।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.