Press "Enter" to skip to content

मसिना हार्ट इंस्टीट्यूट ने  हृदय रोगियों के लिए पोर्टेबल एडवांस्ड कार्डियक केयर यूनिट की शुरुआत की

मुंबई :(अनिल बे्दाग) सदियों पुराना मसिना अस्पताल, जो कि अपनी सस्ती स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने की प्रतिबद्धता के लिए प्रसिद्ध है,  हाल ही में उसके एक अन्य अस्पताल मसिना हार्ट इंस्टीट्यूट ने अपने यहाँ फिलिप्स द्वारा निर्मित प्री-फैब्रिकेटेड ट्रांसपोर्टेबल आईसीयू की शुरुआत की है। इस सेटअप का उद्घाटन- बीएमसी की स्टैंडिंग कमेटी के अध्यक्ष  यशवंत जाधव, श्रीमती यामनी जाधव- विधायक भायखला एवं श्रीमती सोनम मनोज जामसूतकर- कार्पोरेटर द्वारा सह रूप से किया गया है।  इस सेवा का इस्तेमाल एक एडवांस कार्डियक केयर यूनिट (एसीसीयू) के तौर पर किया जाएगा, जिसका उद्देश्य कोविड से सुरक्षित माहौल में दिल की बीमारी से पीड़ित मरीजों का इलाज करना होगा। इस एसीसीयू के शुरू होने साथ, अस्पताल में पूरी तरह सुरक्षित तरीके से मरीजों का इलाज किया जाएगा और बिना किसी प्रकार के संक्रमण की संभावना के ह्रदय संबधी रोगों का इलाज किया जा सकेगा।
हाल ही में मसिना हार्ट इंस्टीट्यूट ने मुंबई में इस स्पेशल एडवांस कार्डियक केयर यूनिट की शुरुआत की है। यह एसीसीयू एक खुले स्थान पर स्थापित किया गया है जिससे कि दिल के रोगियों में संक्रमण की संभावना को रोकने के लिए उन्हें ताज़ा हवा का प्रवाह, एक एचवीएसी सिस्टम और एक स्व-कीटाणुनाशक वॉशरूम की सुविधा प्रदान की जा सके। यह एसीसीयू एक आईसीयू की तरह सभी ज़रूरी सुविधाओं के साथ तैयार है, जो  रोगियों को कोविड और पार-संदूषण यानी क्रॉस-कॉस्मेटिशन से सुरक्षा प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। वहीं सभी रोगियों का इलाज डॉ ज़ैनुलआबेदीन हमदुलय की अगुवाई में, कंसलटेंट, आईसीयू विशेषज्ञ चिकित्सक और नर्सिंग स्टाफ के द्वारा किया जाएगा। डॉ ज़ैनुलआबेदीन हमदुलय, कार्डियोथोरेसिक सर्जन एवं अध्यक्ष– मसिना हार्ट इंस्टिट्यूट- ने लॉन्च के अवसर पर कहा, “कोविड ने बहुत ही गंभीर हालत पैदा कर दिये हैं, जिसके कारण ऐसें हृदय रोगी जो कोविड से संक्रमित नहीं हुए हैं, कोविड के डर के कारण अपने इलाज के लिए अस्पताल आने से कतरा रहे हैं। उनके उपचार में हुई थोड़ी सी देरी से भी परिणाम निराशाजनक हो सकते हैं, और इसी बात पर विचार करते हुए, हमने दिल के मरीजों के सुरक्षित उपचार को सुनिश्चित करने के लिए फिलिप्स से विशेष आईसीयू यूनिट खरीदने का निर्णय किया। यह यूनिट हमें मुख्य अस्पताल से संपर्क किये बिना और रोगियों को कोविड के संक्रमण से बचाते हुए इंटेंसिव केयर की सुविधा प्रदान करने में सक्षम करेगा।” “हमारे पास इस एसीसीयू में, स्वतंत्र रूप से 9 एंटी-बैक्टीरियल उपलब्ध हैंl निजी एचवीएसी सिस्टम(हीटिंग, वेंटिलेशन और एयर कंडीशनिंग) की सुविधा उपलब्ध है जिसे एएसएचआरएइ ( अमेरिकन सोसाइटी ऑफ हीटिंग, रेफ्रिजरेटिंग और एयर-कंडीशनिंग इंजीनियर्स ) द्वारा क्रिटिकल केयर और मोनिटरिंग संबंधी स्वीकृति दी गई है। यूनिट इंडिविजुअल हाई एंड ट्रीटमेंट गैस एयर कंप्रेशर्स, वेक्यूम पम्पस, ऑक्सीजन मैनिफोल्ड, वेंटिलेटर, डिफाइब्रिलेटर, नर्सिंग स्टेशन और स्टोरेज एरिया से परिपूर्ण है। कोविड  पॉजिटिव फेफड़े या दिल के मरीजों के लिए, इस यूनिट में ज़रूरी  सभी और तुरंत प्रदान की जाने वाली ईसीएमओ सेवा उपलब्ध है, यहाँ तक कि घातक हार्ट अटैक से पीड़ित सीओवीआईडी पॉजिटिव मरीजों को बाकी मरीजों के संपर्क में लाए बगैर इस यूनिट में आपातकालीन उपचार दिया जा सकता है।”, उन्होंने आगे कहा-
उद्घाटन के अवसर पर बीएमसी की स्टैंडिंग कमेटी के अध्यक्ष यशवंत जाधव ने कहा- डॉ ज़ैनुलआबेदीन हमदुलय एवं मसिना हार्ट इंस्टिट्यूट द्वारा फिलिप्स की आधुनिक तकनीक द्वारा निर्मित एडवांस कार्डिएक केयर यूनिट की स्थापना एक अनोखी पहल है, जो गंभीर रूप से बीमार मरीजों को क्रॉस-इन्फेक्शन के संपर्क के खतरे से बचाते हुए उनका उपचार करेगी। यह प्रयास निश्चित तौर पर शहर के मरीजों के इलाज में मददगार साबित होगा साथ ही इसके जैसी अन्य स्थापनाएं पूरे राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं में बढ़ोतरी करेंगी।
मसिना हार्ट इंस्टीट्यूट जारी महामारी के दौरान रोगियों को सुरक्षित और पूर्ण गहन देखभाल यानी कम्पलीट इंटेंसिव केयर प्रदान करने संबंधी सभी ज़रूरी कदम उठा रहा है, क्योंकि ऐसें रोगियों में कोविड से संक्रमित होने की संभावना बहुत ज़्यादा होती है। देश में इस प्रकार की आधुनिक तकनीक पर आधारिक मशीन को पहली बार स्थापित किया गया है, इसकी संकल्पना और डिजानिंग फिलिप्स द्वारा तैयार किया गया है। अस्पताल में स्थापित किया गया यह एडवांस कार्डियक केयर यूनिट महामारी के दौरान कष्ट झेल रहे घातक हृदय रोगियों के लिए एक जीवनरक्षक की तरह साबित होगा ।

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.