Press "Enter" to skip to content

मेघा चक्रवर्ती और जिया शंकर ने‘काटेलाल एंड संस’ में गन्नू और सत्तू की भूमिका को लेकर की खुलकर बात

मुम्बई।सोनी सब का महत्‍वपूर्ण और हल्का-फुल्का मनोरंजक शो ‘काटेलाल एण्ड संस’ दो बहनों गरिमा (मेघा चक्रवर्ती) और सुशीला (जिया शंकर) की प्रेरणादायक कहानी है जो समाज की रूढ़िवादी सोच को चुनौती देते हुए हमेशा मुश्किलों का सामना करने के लिए तैयार रहती हैं। यह शो रूढ़िवादी जेंडर की भूमिकाओं के बारे में है जो हमारे समाज के लोगों की मानसिकता में गहराई से जमी हुई है। ‘काटेलाल एण्ड संस’ की प्रमुख अभिनेत्रियां हाल ही में दो लड़कों गन्नू और सत्तू का रूप धारण किए हुए नज़र आई थीं। लुक बदलने के अन्य मामलों से बिल्कुल अलग, मेघा और जिया का बदला हुआ लुक खुद में ही एक अनोखा और रोमांचक अनुभव था। गरिमा और सुशीला दोनों ने ही खुद को गन्नू और सत्तू के रूप में बदलने के अनुभव के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने यह भी बताया कि इस लुक में परफेक्ट दिखने के लिए उन्होंने क्या-क्या किया।

एक लड़के के रूप में खुद को देखने के बाद उनकी अपनी प्रतिक्रिया क्या रही, इस बारे में मेघा ने कहा, “मैं हैरान थी क्योंकि मैं ये सोच रही थी कि पुरुष का लुक मुझपे अच्छा नहीं लगेगा, लेकिन जब मैंने खुद को आईने में देखा, तो अपने अंदर एक बड़ा बदलाव पाया। मेरा चेहरा यहां तक कि मेरी चाल-ढाल भी बदल गई। मैं खुद को एक लड़के के रूप में देखकर बहुत ज़्यादा रोमांचित थी।” जिया ने आगे कहा, “यह बहुत ही अच्छा था। मुझे पता था मैं लड़के के रूप में तैयार होकर बहुत अच्छी दिखूंगी। एक तरफ मेरे परिवार और मेरे प्रशंसकों को मेरा ये नया लुक पसंद आया, तो वहीं दूसरी तरफ मेरे दोस्तों ने मेरी बहुत टांग खिचाई की।”पूरी तरह से नए लुक में आने के दौरान कई चीज़ें होती हैं। मेघा और जिया ने लड़के का रूप धारण करने के अनुभव के बारे में विस्तार से बताया और हर क्षण की जानकारी दी। मेघा ने कहा, “मुझे लगता है यह लुक बहुत ही आकर्षक और कम्फ़र्टेबल है। हम दोनों ने ही बैगी जीन्स और शर्ट के साथ कुछ एक्सेसरीज़ भी पहनी है। मुझे लगता है जो चीज़ सबसे ज़्यादा अलग है वो हमारी विग है और हमारे खुद के बालों को कवर करके उस पर विग लगाने की वो पूरी प्रक्रिया। इसके अलावा हमें बालों के कलम भी बनाने पड़े। विग पूरी तरह से टाइट फिट होनी चाहिए इसलिए दिन खत्म होते होते उसकी क्लिप्स बहुत ज़्यादा चुभने लगती थी। इसके बावजूद पूरा अनुभव बहुत ही संतोषजनक रहा है।“ दूसरी तरफ जिया का इस पर बिलकुल अलग विचार है। उन्होंने कहा, “मुझे लुक बहुत पसंद आया और कहीं भी विग की वजह से मुझे बहुत ज़्यादा परेशानी नहीं हुई। मुझे इस लुक में आने में लगभग 15-20 मिनट का समय लगा। इस लुक के बारे में मुझे जो चीज़ सबसे ज़्यादा पसंद है वो है इसमें छोटी से छोटी चीज़ों पर ध्यान रखा गया है, हमारे फॉउंडेशन के कलर से लेकर एक्सेसरीज़ चुनना और हमारी रिप्ड जींस तक। गन्नू और सत्तू रोहतक की मिट्टी के असली लाल हैं। इसके अलावा, इस लुक के बारे में जो सबसे सहजता वाली बात है, वो है कि पूरा दिन आपको स्पोर्ट्स शूज़ पहनना है।“

जहां इन दोनों महिलाओं के लिए लुक ट्रांसफॉर्मेशन सिर्फ पहला कदम था, इनका असली संघर्ष वॉइस मॉड्यूलेशन था। उन्हें इस बात को सुनिश्चित करना था कि वह पुरुष की टोन में आराम से अपने डायलॉग्स को बोल सकें। मेघा ने खुलासा करते हुए कहा, “इस लुक में खुद को ढ़ालना तब भी थोड़ा आसान था लेकिन एक लड़के की तरह बोलना और अपने बॉडी लैंग्वेज के साथ लगातार उस चीज़ को बनाए रखना, इस बदलाव का सबसे मुश्किल हिस्सा था। “जिया ने आगे कहा, “मुझे हमारे बदलाव के पहले हफ्ते के दौरान बहुत संघर्ष करना पड़ा था। जहां हमें अपनी आवाज़ बदलनी थी लेकिन हमें इस बात को भी सुनिश्चित करना था कि हमारी बोली हरियाणवी हो। इसलिए कभी-कभार, मैं या तो अपनी आवाज़ या फिर अपनी बोली को भूल जाती थी। निश्चित रूप से यह समय के साथ और ज़्यादा बेहतर हो रही है।” इन दोनों ने आखिर में कहा, “हम ये जो करने की कोशिश कर रहे हैं, यह बिलकुल नया है और जहां हमारे प्रशंसक और दर्शक लगातार हमारा सहयोग कर रहे हैं और ‘काटेलाल एण्ड संस’ की सराहना कर रहे हैं, वहीं हम ये उम्मीद करते हैं वो हमारे इस नए लुक और शो में आए इस ट्विस्ट पर ज़रूर प्यार दें और गन्नू और सत्तू से भी वो लगातार प्रेरित होते रहें।”

More from खेल मनोरंजनMore posts in खेल मनोरंजन »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.