Press "Enter" to skip to content

रिकार्ड 25,527 नए मामलों के साथ 5.55 लाख के करीब कोरोना मरीज, अब तक 16,568 की मौत

नई दिल्ली। भारत में एक दिन में कोविड-19 के 25,527 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 5,54,386 हो गए हैं। वहीं 473 और लोगों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 16,568 हो गई। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार सोमवार को शाम सात बजे तक एक दिन में 25 हजार से ज्यादा मामले आने से देश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 5,54,386 पहुंच गई है, जबकि कोरोना वायरस संक्रमण के कारण मरने वालों की संख्या 16,568 जा पहुंची है। मसलन देश में कोरोना महामारी का प्रकोप तेजी के साथ बढ़ता जा रहा है। मंत्रालय के अनुसार देश में एक जून के बाद 3,63,851 मामले सामने आए हैं। मंत्रालय द्वारा अद्यतन आकंड़ों के अनुसार अभी 2,12,850 लोगों का इलाज चल रहा है जबकि 3,24,912 लोग ठीक हो चुके हैं। इस प्रकार अभी तक करीब 59 प्रतिशत मरीज ठीक हो चुके हैं। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कहा कि 28 जून तक 83,98,362 नमूनों की जांच की गई है। रविवार को 1,70,560 नमूनों की जांच की गई।

दिल्ली फिर तीसरे स्थान पर खिसकी-राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में तेजी से बढ़ते कोरोना मरीजों के कारण पिछले दिनों तमिलनाडु को तीसरे स्थान पर धकेलकर दूसरे पायदान पर आ गई थी, लेकिन पिछले एक दिन में दिल्ली से ज्यादा मरीज तमिलनाडु में आए और तमिलनाडु फिर दूसरे पायदान पर आ गया। जबकि दिल्ली 83,077 मरीजों के साथ तीसरे स्थान पर खिसक गई है, जहां सक्रीय मरीजों की संख्या 27,847 और ठीक होने वालों की संख्या 52,607 हो गई है, जबकि दिल्ली में मरने वालों की संख्या 2,623 हो चुकी है। तमिलनाडु में कोरोना मरीजों की संख्या 86,224 हो गई, जिसमें 37,334 सक्रिय मरीज है, जबकि 47,749 कोराना को मात देकर ठीक हो चुके हैं, जहां कोरोना के कारण 1,141 लोगों ने जान गंवाई है। महाराष्ट्र अभी भी 1,64,626 मरीजों के साथ पहले स्थान पर बना हुआ है, जहां 70,607 मरीजों का इलाज चल रहा है और 86,575 मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि महाराष्ट्र में मरने वालों का आंकडा भी सबसे ज्यादा 7,429 तक पहुंच चुका है।

सरकार ने दी पीपीई किट के निर्यात की अनुमति-केंद्र सरकार ने कोविड- 19 से जुड़ी चिकित्सा सामग्री‘व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) किट के निर्यात नियमों में आंशिक ढील दी है। इस किट की मासिक 50 लाख इकाइयों के निर्यात की अनुमति दी गई है। इस उत्पाद के निर्यात पर अब तक पूरी तरह से रोक थी, लेकिन अब इसे निर्यात की प्रतिबंधित सूची में डाला गया है। पीपीई किट कोविड- 19 संक्रमित लोगों के इलाज में लगे चिकित्सा कर्मियों द्वारा पहनी जाती है ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने एक अधिसूचना में कहा है कि कोविड-19 इकाइयों के लिये 50 लाख पीपीई चिकित्सा उपकरण का निर्यात कोटा तय किया गया है। पीपीई चिकित्सा उपकरण निर्यात करने वाली पात्र इकाइयों के लिये निर्यात लाइसेंस जारी करने के वास्ते यह कोटा तय किया गया। इसके पात्रता मानदंडों के वास्ते अलग से व्यापार नोटिस जारी किया जायेगा।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.