Press "Enter" to skip to content

देश में जल्द आएगी नई शिक्षा नीति: निशंक

नई दिल्ली। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने हिन्दुस्तान के प्रधान संपादक शशि शेखर के साथ खास बातचीत में बताया कि हमारी जो नई शिक्षा नीति आ रही है, वह काफी कुछ इन बातों का समाधान करेगी और यह नीति जल्दी आएगी। जब केन्द्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा कि रोजगार और छात्र की शिक्षा, दोनों के बीच समन्वय बहुत जरूरी है। सरकार ने आईआईटी से कहा है कि 50 फीसदी छात्र उद्योगों के साथ काम करेगा और पढ़ेगा। इससे उद्योग विकसित होगा और छात्र को भी अनुभव होगा। इसी तरह से हमने एक पोर्टल शुरू किया, जिससे सभी बच्चों के विचार एक प्लेटफॉर्म पर आएंगे। देश के प्रधानमंत्री ने जो आत्मनिर्भर भारत की बात की है, उसकी भी भरपाई होगी। हाईस्कूल-इंटर के बाद छात्रों के हाथ में कैसे कौशल आए, उसपर काम हो रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि नए भारत की जरूरत है। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि कोई सोच नहीं सकता था और हमने इस परिस्थिति को पकड़ा और चुनौतियों को अवसरों में तब्दील कर दिया। हां, हमारी भी चिंता है कि जिन बच्चों के पास इंटरनेट नहीं है, वहां तक हमे जाना है। इसी वजह से वन क्लास, वन चैनल का अभियान शुरू किया गया है। इससे हम अंतिम स्टूडेंट तक जाएंगे। बच्चों के लिए टीवी पर पाठ्यक्रम को लेकर आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैंने देश के अभिभावकों, छात्रों, टीचरों से सीधी बात की है। कई बार इंटरनेट या बिजली नहीं आती है तो हम उसे समय दे रहे हैं। हमारे आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद, रात दिन काम कर रहे हैं। वह डिजिटल इंडिया के लिए रात-दिन काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्यों ने बहुत अच्छे से काम किया है। उन्होंने माना कि अभी 30-40 फीसदी तक छात्रों तक पहुंच होनी है। इसके लिए हम राज्यों के साथ काम कर रहे हैं। अंतिम छोर वाले बच्चे के लिए काम कर रहे हैं। अभी व्हाट्सऐप, अध्यापक अन्य तरीकों से भी उन बच्चों तक पहुंच के लिए काम कर रहे हैं।

More from शिक्षा (एजुकेशन)More posts in शिक्षा (एजुकेशन) »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.