Press "Enter" to skip to content

कोरोना के नए मामलों की तुलना में ठीक होने वालों की संख्या ज्यादा,पिछले 24 घंटों में सामने आए 17,835 नए मामले

नई दिल्ली। देश में पिछले काफी दिनों से जितने नए मरीज सामने आ रहे हैं उनसे ज्यादा कोरोना को मात देने वालों की संख्या सामने आ रही है। शनिवार शाम तक पिछले 24 घंटों में देश में कोरोना के 17,835 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद अब कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1.04 करोड़ से पार चली गई है। हालांकि कल के मुकाबले कोरोना से होने वाली मौतों का आंकड़ा गिरा है। पिछले 24 घंटों में 215 लोगों ने दम तोड़ा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक देश में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 17,835 नए मामले सामने आए हैं। वहीं कल यानि शुक्रवार को 19,764 मामले सामने आए थे। अब देश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या 1,04,33,549 हो गई है। हालांकि एक दिन में 18,561 मरीज ठीक होकर अस्पताल से उनके घर भेजे गये हैं। एक दिन में ठीक हुए मरीजों के बाद देश में अब तक कुल ठीक हुए मरीजों की संख्या 1,00,57,012 हो गई है। आंकड़ो के अनुसार देश में कोरोना को मात देकर स्वस्थ होने के बाद देश में रोगियों के स्वस्थ होने की दर बढ़कर 96.41 फीसदी तक पहुंच गई। जबकि अस्पताल में इलाज करा रहे सक्रीय मरीजों की संख्या घटकर 2,21,378 रह गई है जो कि कुल संक्रमितों का 2.16 फीसदी हैं। सुबह आठ बजे तक अद्यतन आंकड़ों के अनुसार देश में संक्रमितों की संख्या 10431639 हो गई। वहीं पिछले 24 घंटे में संक्रमण से 215 लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,50,850 हो गई। देश में संक्रमण से मृत्यु दर 1.45 फीसदी है। भारत में सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख के पार चली गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवम्बर को 90 लाख और 19 दिसम्बर को एक करोड़ के पार चले गए थे। मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार देश में वायरस से अभी तक 150798 की लोगों की मौत हुई है, जिनमें महाराष्ट्र के 49970, कर्नाटक के 12134, तमिलनाडु के 12208, दिल्ली के 10654, पश्चिम बंगाल के 9902, उत्तर प्रदेश के 8469, आंध्र प्रदेश के 7127, पंजाब के 5437 और गुजरात के 4335 लोग थे।

अध्ययन का काम जारी-कोरोना को लेकर अलग-अलग अध्यन किए जा रहे हैं जिनके दावे भी अलग हैं, एक नए अध्ययन में दावा किया गया है कि कोरोना वायरस लोगों की नाक से उनके दिमाग में प्रवेश कर सकता है। अध्ययन के निष्कर्ष की मदद से अब यह पता लगाना संभव हो सकेगा कि कोविड-19 बीमारी के दौरान मरीजों में ‘न्यूरोलॉजिकल लक्षण क्यों उभर रहे हैं और उनका इलाज कैसे किया जाए। ‘नेचर न्यूरोसाइंस पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, सार्स-सीओवी-2 ना सिर्फ श्वसन तंत्र को प्रभावित करता है बल्कि केन्द्रीय तंत्रिका तंत्र पर भी प्रभाव डालता है जिससे अलग-अलग ‘न्यूरोलॉजिकल लक्षण जैसे सूंघने, स्वाद पहचानने की शक्ति में कमी आना, सिर दर्द, थकान और चक्कर आदि दिखने लगते हैं।

15 राज्यों में संक्रमण की दर कम-स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि देश में बिहार, उत्तर प्रदेश, मिजोरम, झारखंड, गुजरात, दमन और दीव, असम, पंजाब, अंडमान निकोबार द्वीप समूह, ओडिशा, तेलंगाना, उत्तराखंड, मध्यप्रदेश, मेघालय और जम्मू- कश्मीर जैसे 15 राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों में संक्रमण की पुष्टि की दर राष्ट्रीय औसत 5.79 प्रतिशत से कम है और बिहार में सबसे कम पुष्टि दर 1.44 प्रतिशत है। मंत्रालय ने आज दोपहर में जारी एक बयान में कहा कि देश में अब तक कोविड-19 का पता लगाने के लिए कुल 18 करोड़ से अधिक नमूनों की जांच की जा चुकी है और पिछले 24 घंटे में ही नौ लाख से अधिक नमूनों का परीक्षण किया गया। मंत्रालय ने कहा कि भारत में प्रति दस लाख आबादी पर जांच (टीपीएम) 1,30,618.3 है। उसने कहा कि जांच के बुनियादी ढांचे में वृद्धि के साथ, टीपीएम में भी तेजी से वृद्धि हुई है।

कोविड-19 के यूके वाले स्ट्रेन के 90 लोग-रिटेन में मिले कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से अब तक भारत में 90 लोग संक्रमित पाए गए हैं। इनमें से 8 बीते 24 घंटे में संक्रमित पाए गए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी है। यह वायरस कोरोना वायरस के पुराने स्ट्रेन से 70 प्रतिशत ज्यादा तेजी से फैलता है। वहीं पिछले 24 घंटों में देशभर में कोरोना के 18 हजार 222 मामले सामने आए हैं और 228 लोग अपनी जान गवा चुके हैं। भारत में कोविड-19 के यूके वाले स्ट्रेन का पहला मामला 30 दिसंबर को पाया गया था।

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.