Press "Enter" to skip to content

देश के कई राज्यों में फैला है पीएफआई का जाल,कई राज्यों ने गृहमंत्रालय को सौंपी अपनी रिपोर्ट

नई दिल्ली। नागरिकता कानून के संशोधन को लेकर विरोध में हिंसा की साजिश में शामिल पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) की गतिविधियां यूपी में ही नहीं, बल्कि देश के कई राज्यों में देखी जा रही है

 सूत्रों के मुताबिक पीएफआई की गतिविधियों को लेकर देश के कई राज्यों ने गृह मंत्रालय को जानकारी दी है। सूत्रों के अनुसार उत्तर प्रदेशअसम और केरल ने पीएफआई की गतिविधियों को लेकर गृह मंत्रालय को यह जानकारी मुहैया कराई है। दरअसल पिछले दिनों देश के कई इलाकों में नागरिकता संशोधन कानून 2019 को लेकर हिंसा देखने को मिली थी. इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने कानून व्यवस्था भी बिगाड़ते हुए कई जगह पत्थरबाजी और आगजनी को अंजाम दिया। वहीं इसकी जांच में खुफिया एजेंसियों को पीएफआई की भूमिका के बारे में पता चला. जिसके बाद गृह मंत्रालय ने इसकी जानकारी मांगी थी। देश की जांच एजेंसियों को शक है कि देशभर में सीएए और एनआरसी के नाम पर हुए हिंसक प्रदर्शन में पीएफआई से जुड़े लोग शामिल थे. मल्टी एजेंसी सेंटर की रिपॉर्ट के मुताबिक पीएफआई से जुड़े लोगों ने उत्तर प्रदेश के कई जिलों में मीटिंग की थी। सूत्रों के मुताबिक नागरिक संशोधन कानून बनने से से पहले पीएफआई से जुड़े लोगों ने असम और पश्चिम बंगाल में इस कानून के विरोध में आम लोगों के बीच पर्चे बांटे थे।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.