Press "Enter" to skip to content

पीएम मोदी का आयकर प्रणाली में बड़े सुधार का ऐलान,करदाताओं को मिले तीन बड़े अधिकार

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ईमानदारी से कर चुकाने वाले करदाताओं के लिए ‘पारदर्शी कराधान- ईमानदार का सम्मान’ नामक एक प्लेटफॉर्म का शुभारंभ किया। पीएम मोदी कई मौकों पर ईमानदार करदाताओं की तारीफ तो करते रहे हैं, लेकिन इस बार उन्होंने ऐसे करदाताओं के लिए एक बड़ा प्रोग्राम शुरू किया। इस नए कर प्लेटफॉर्म के तहत करदाता को फेसलेस असेसमेंट, टैक्सपेयर्स चार्टर, फेसलेस अपील की सुविधा मिलेगी। वहीं अब कर देने में आसानी होगी, तकनीक की सहायता से लोगों पर भरोसा जताया जाएगा। पीएम मोदी ने गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से एक प्लेटफॉर्म की शुरूआत के लिए आयोजित इस आयोजन में केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर भी उपस्थित रहे। इसके अलावा आयकर विभाग के अधिकारियों एवं पदाधिकारियों के अलावा विभिन्न वाणिज्य मंडलों, व्यापार संघों एवं चार्टर्ड अकाउंटेंट संघों के साथ-साथ जाने-माने करदाता भी इस आयोजन में शामिल हुए। वहीं, प्रधानमंत्री ने इस मौके पर लोगों को संबोधित किया और इस योजना के बारे में बताया।

ईमानदार करदाताओं के लिए बेहतर तंत्र-प्रधानमंत्री कई मौकों पर ईमानदार टैक्सपेयर्स की तारीफ तो करते ही रहे हैं, लेकिन इस बार ईमानदार टैक्सपेयर्स के लिए एक बड़े प्रोग्राम की शुरूआत की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ईमानदार टैक्सपेयर्स को प्रोत्साहन और कर प्रणाली में पारदर्शिता बढ़ाने के लिए एक नए प्लेटफॉर्म की शुरुआत करते हुए इस नए प्रोग्राम का नाम है ट्रांसपैरेंट टैक्सेशन। इसका मतलब है पारदर्शी टैक्स व्यवस्था। इस कार्यक्रम की टैगलाइन रखी गई है ईमानदारों का सम्मान। वेब टेलिकास्ट के जरिए पीएम मोदी ने इस प्रोग्राम की शुरुआत की। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि इस प्लेटफॉर्म में फेसलेस असेसमेंट,फेसलेस अपील, टैक्सपेयर्स चार्टर जैसे बड़े रिफॉर्म्स हैं। फेसलेस असेसमेंट, टैक्सपेयर्स चार्टर आज से लागू हो गए हैं। फेसलेस अपील की सुविधा 25 सितंबर यानि दीन दयाल उपाध्याय जी के जन्मदिन से पूरे देशभर में नागरिकों के लिए उपलब्ध हो जाएगी। देश का ईमानदार टैक्सपेयर राष्ट्रनिर्माण में बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। जब देश के ईमानदार टैक्सपेयर का जीवन आसान बनता है, वो आगे बढ़ता है, तो देश का भी विकास होता है, देश भी आगे बढ़ता है। पीएम मोदी ने कहा कि एक दौर था जब हमारे यहां रिफॉर्म्स की बहुत बातें होती थीं। कभी मजबूरी में कुछ फैसले लिए जाते थे, कभी दबाव में कुछ फैसले हो जाते थे, तो उन्हें रिफॉर्म कह दिया जाता था। इस कारण इच्छित परिणाम नहीं मिलते थे। अब ये सोच और अप्रोच, दोनों बदल गई हैं।

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.