Press "Enter" to skip to content

नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता वृद्धि को प्रोत्साहन देने के लिए नीतिगत सहायता प्रदान की जानी चाहिए : श्री आर. के. सिंह

नई दिल्ली- बिजली और नवीन तथा नवीकरणीय ऊर्जा, कौशल विकास तथा उद्यमिता राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री आर. के. सिंह ने उत्सर्जन कम करने के लिए ताप बिजली घरों के उत्पादन और उनकी परिगणना में लचीलापन प्रदान करने के लिए एक समीक्षा बैठक की। बैठक में बिजली मंत्रालय द्वारा जारी प्रक्रिया के संबंध में कार्यान्वयन के मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया। बैठक में बिजली सचिव श्री अजय कुमार भल्ला, बिजली मंत्रालय, एमएनआरई, सीईए, सीईआरसी, पोस्को और एनटीपीसी के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए।

ताप बिजली घरों के उत्पादन और उनकी परिगणना में लचीलेपन की प्रक्रिया की इजाजत बिजली मंत्रालय ने जारी की थी। इसके अंतर्गत बिजली उत्पादन करने वाली कंपनी देश में कहीं भी नवीकरणीय ऊर्जा उत्पादन क्षमता स्थापित कर सकती है अथवा खरीद सकती है और वर्तमान प्रतिबद्धताओं के विपरीत बिजली आपूर्ति के लिए ऐसी नवीकरणीय क्षमताओं का इस्तेमाल कर सकती है। उपरोक्त प्रणाली के आसानी से कार्यान्वयन के लिए कुछ मुद्दों का समाधान निकालना जरूरी है।

बिजली मंत्री ने ऐसे मुद्दों के समाधान के लिए उपयुक्त निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सरकार मुख्य रूप से नवीकरणीय ऊर्जा के विकास पर ध्यान देगी। अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भारत की प्रतिबद्धता को उजागर करते हुए श्री सिंह ने कहा कि नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता को प्रोत्साहन देने के लिए सभी तरह की आवश्यक नीतिगत सहायता प्रदान की जानी चाहिए। जिससे ऊर्जा सुरक्षा और पर्यावरण संरक्षण का मार्ग प्रशस्त हो सके।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.