Press "Enter" to skip to content

राहुल गांधी बोले, कृषि कानूनों को वापस लेने में ही सबकी भलाई, किसान नहीं हटने वाले

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि तीनों कृषि कानूनों को वापस ले लेने में ही सबकी भलाई है। उन्होंने कहा कि मैं किसानों को अच्छी तरह से जानता हूं, वे नहीं हटने वाले, सरकार को ही अपने कदम पीछे खींचना होगा।

कृषि कानूनों के खिलाफ बीते 70 दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर बैठे किसानों के धरना स्थल के इर्दगिर्द तारबाड़ करने, नुकीली कीलें बिछाने और सीमेंटेड दीवारें खड़ी किए जाने को लेकर एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए राहुल ने आरोप लगाया कि इससे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की प्रतिष्ठा को गहरा धक्का लगा है और भाजपा-आरएसएस ने देश की साख को ध्वस्त कर दिया है। उन्होंने सवाल किया कि सरकार किलेबंदी क्यों कर रही है? क्या वह किसानों से डरती है? क्या किसान दुश्मन हैं? उन्होंने कहा कि किसान देश की ताकत है। इनको मारना, धमकाना सरकार का काम नहीं है।

बुधवार को यहां एक प्रेस कांफ्रेंस में राहुल ने कहा कि सरकार का काम बातचीत करना और समस्या का समाधान निकालना है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री कहते हैं कि प्रस्ताव बरकरार है कि कानूनों के क्रियान्वयन को कुछ समय के लिए स्थगित कर दिया जाए। मेरा मानना है कि इस समस्या का समाधान जल्द करना जरूरी है। किसान पीछे नहीं हटेंगे। अंत में सरकार को पीछे हटना होगा। इसी में सबका भला है कि सरकार आज ही पीछे हट जाए और तीनों कृषि कानूनों को वापस ले।

एक सवाल पर राहुल ने कहा कि सरकार ने नोटबंदी की, जीएसटी लागू की, कृषि पर भी जीएसटी लगाया और देश की अर्थव्यवस्था को नष्ट कर दिया। इसके बाद कोरोना आ गया, जिससे बची खुची अर्थव्यवस्था और बर्बाद हो गई। छोटे-मझोले व्यवसायों पर चोट पड़ी। एक ब्राईट स्पॉट कृषि था। कोरोना काल में भी काम करके किसानों ने इस देश को बचाया और आज सरकार उन्हीं को खत्म करने पर तुली हुई है। राहुल ने कहा कि किसान देश की रीढ़ हैं और सरकार इसी रीढ़ को तोड़ने पर आमादा है।

भाजपा समर्थितों द्वारा आंदोलनरत किसानों को आतंकवादी कहे जाने को लेकर किए गए सवाल पर राहुल ने कहा कि इसका मतलब तो यही हुआ कि इस देश में खेती करने वाली 60 प्रतिशत आबादी आतंकवादी हैं। किसान आपसे लड़ रहा है तो आप उसको आतंकवादी कह रहे हो। गणतंत्र दिवस पर किसानों के ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई घटनाओं को लेकर तरह-तरह के बयानबाजी से जुड़े सवाल पर राहुल ने कहा कि डिस्ट्रैक्शन करने का सरकार और भाजपा का तरीका है। उन्होंने कहा कि अगर लाल किले पर किसी ने गलत काम किया तो वो गृह मंत्री की जिम्मेदारी है। होम मिनिस्ट्री को समझाना चाहिए कि लोग लाल किले के अंदर घुसे कैसे?

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.