Press "Enter" to skip to content

संगीतमय नाटक में बाजीराव बने रजनीश दुग्गल

मुम्बई।(श्याम शर्मा) रजनीश दुग्गल को ‘बाजीराव मस्तानी’ के म्यूजिकल प्ले वर्जन (संगीतमय नाटक) में बाजीराव के रूप में लिया गया है। ऐसे में उन्होंने इस भूमिका के लिए पंडित बिरजू महाराज से प्रशिक्षण लिया है। जी हाँ, हाल ही में इस बारे में बात करते हुए रजनीश ने कहा, “मुझे बहुत खुशी है कि मैंने इस नए वर्जन के लिए पंडित बिरजू महाराजजी के मार्गदर्शन में प्रशिक्षण लिया। यह कुछ ऐसा है जो मैंने पहले कभी नहीं किया है। मैंने इस प्रोजेक्ट के लिए ‘छऊ’ नृत्य भी सीखा है, जो अपने आप में एक अलग अनुभव था।” उन्होंने आगे कहा, “शुरू में योजना थी कि इस नाटक को अलग-अलग शहरों और देशों में ले जाएं, लेकिन अब संभावना है कि हम इसे ऑनलाइन लेकर आएंगे। इस पर अभी चर्चा चल रही है।” आप सभी को हम यह भी बता दें कि यह नाटक संजय लीला भंसाली की 2015 में आई फिल्म ‘बाजीराव मस्तानी’ पर आधारित है, जिसमें मराठा पेशवा बाजीराव और मस्तानी की कहानी दिखाई गई है। आपको याद हो इसमें रणवीर सिंह ने बाजीराव और दीपिका पादुकोण ने मस्तानी की भूमिका में नजर आए थे जबकि प्रियंका चोपड़ा ने बाजीराव की पहली पत्नी काशीबाई का रोल निभाया था
रजनीश बताते हैं कि रणवीर सिंह, दीपिका पादुकोण, प्रियंका चोपड़ा और संजय लीला भंसाली को भी इस शो में विशेष मेहमान के तौर पर आमंत्रित किये जाने का प्लान था। मुझे उम्मीद है वे सभी किसी दिन इस नाटक को लाइव देख सकेंगे।
लॉकडाउन के इस दौर में इस नाटक के सभी कलाकारों को अपनी प्रतिभाओं को और ज्यादा विकसित करने का वक्त दे दिया है। नाटक अप्रैल के महीने में दिल्ली में होने वाला था लेकिन फिलहाल के लिए इसे रोक दिया गया है। किसी भी शो को ऑनलाइन सही तरीके से कर पाना इस लॉकडाउन की वजह से ही संभव हो सका है। भारत की जानी-मानी कॉमेडियन कनीज सुरका बताती हैं कि लाइव शोज करने का चलन भारत में फिलहाल तो नया ही है। उन्होंने बताया कि किसी भी कॉमेडियन को लाइव देखना एक अलग ही अनुभव होता है। और एक कॉमेडियन भी बहुत अच्छे से उसी वक्त कॉमेडी पर पाता है जब उसके सामने दर्शक मौजूद हों और उसकी बातों पर साथ ही साथ प्रतिक्रिया दे रहे हों।
बॉक्स ऑफिस पर लगातार असफल रही फिल्मों को लेकर रजनीश कहते हैं कि मेरी फिल्में भले ही कारोबार के गणित में फिसल जाती हैं, लेकिन मेरी फिल्मों का निर्माता कभी नुकसान नहीं उठाता, फिल्म इंडस्ट्री में कोई भी किसी पर दोस्ती-यारी में पैसे नहीं लगाता है। पहली फिल्म के बाद रजनीश ने अब तक बॉक्स ऑफिस पर हिट कोई हिट नहीं दी लेकिन इसके बावजूद वह टिके हुए हैं। रजनीश इन असफलताओं को अपने अनुभव में जोड़ते रहे और खुद को निखारते भी रहे, लेकिन तमाम बड़े-बड़े सितारों की तरह फ्लॉप के बाद वह भागे बिल्कुल भी नहीं।
रजनीश कहते है, ‘मुझे लगता है कि जिंदगी में हर चीज से आगे बढ़ा जा सकता है जिसमें असफलता भी शामिल है। असफलता आपको एक पॉजिटिव पाठ पढ़ाती है, फेलियर यह सिखा देता है कि किन गलतियों को दोहराना नहीं है, असफलता से मिला अनुभव बहुत काम का होता है। हर व्यक्ति की अपनी एक किताब होती है, मेरी भी किताब बन रही है और इस किताब में सब कुछ वैसा नहीं होता है, जैसा हम चाहते हैं या प्लान करते हैं।’
टीवी में अपने भविष्य को लेकर रजनीश कहते हैं कि कई बार टीवी में काम करने का बड़ा ऑफर आया, लेकिन मुझे तो बॉलिवुड में ही रहना था। 2013 में मुझे एहसास हुआ कि अगर मेरा पैशन ऐक्टिंग है तो टीवी में भी तो ऐक्टिंग ही करना है, बस अब मैंने टीवी और फिल्म दोनों जगह खूब काम किया। अगर मुझे ऐक्टिंग की शुरुआती दिनों में किसी ने गाइड किया होता तो मैं शुरू से ही टीवी और फिल्म कर रहा होता।’  रजनीश कहते हैं कि खुद को मांजते हुए आगे बढ़ो तो थोड़ा समय लग जाता है। जब मेरी फिल्में लगातार फ्लॉप होती हैं तो जाहिर सी बात है मेरे नाम के ब्रैंड को नुकसान तो पहुंचता ही है लेकिन मैं बरबाद नहीं होता। अब इसमें भी मैंने एक पॉजिटिव चीज देखी है कि मैं काम के मामले में बेहद डेडिकेट, समय का पाबंद, फिल्म में पूरी तरह इंवॉल्व हो जाना और काम में सौ प्रतिशत देता हूं। किसी की नजर न लगे, लेकिन मैंने जिन भी निर्माताओं के साथ अब तक काम किया है, उनमें ज्यादातर निर्माताओं ने पैसा बनाया है। मेरी फिल्मों से सेटलाइट और डिजटल मिलाकर निर्माता लाभ की स्थिति में रहता है। इसी वजह से मैं आज चल रहा हूं।  सभी बिजनस देखते हैं और मैं निर्माताओं को बिजनस दे रहा हूं।’ फिल्मों में टिके रहने वाले रजनीश अपकमिंग ऐक्टर्स को सलाह देते हुए कहते हैं, ‘कम से कम एक दशक में जितना सीखा है, उससे नए ऐक्टर्स को यही सलाह दूंगा कि वह कभी भी हार न मानें, अपना काम मेहनत और इमानदारी के साथ अच्छी तरह करते रहें। इमानदारी से की गई मेहनत का फल हमेशा मिलता है।’

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.