Press "Enter" to skip to content

रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद: 18 अक्टूबर तक सुनवाई पूरी करे सभी पक्ष -सुप्रीम कोर्ट

दिल्ली। रामजन्मभूमि-अयोध्या विवाद मामले पर सुनवाई के दाैरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सभी पक्षो को एक महीने मे अपनी दलीले कोर्ट के सामने रखने को कहा ताकि सुनवाई पूरी कर महीने भर मे फैसला दिया जा सके।

मंगलवार को मामले की सुनवाई के समय ही चीफ जस्टिस ने अपनी दलीले रखने को समय सीमा तय करने को कहा था।आज सुनवाई करते हुए जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि सभी पक्ष 18 अक्टूबर तक अपनी दलीले तय समय सीमा मे ही पुर्ण करने की कोशिश करे। चीफ जस्टिस ने कहा कि फैसला लिखने के लिये भी हमे कम से कम चार सफ्ताह का समय चाहिए। उन्होने कहा कि बहस के साथ ही हमे मध्यस्थता के लिये भी पत्र मिला है। अगर मध्यस्थता हो सकती है तो पक्ष आपस मे बातचीत कर सकते है पर मध्यस्थता की गोपनीय बनी रहनी चाहिए। चीफ जस्टिस ने कहा कि अगर जरुरत पडी तो सुनवाई एक दिन आगे शनिवार को भी की जा सकती है।

रामजन्मभूमि-अयोध्या विवाद मसले पर 6 अगस्त से सफ्ताह मे तीन दिन सुनवाई चल रही थी जिसे बाद मे कोर्ट ने सफ्ताह मे पाँच दिन कर दिया था। सुनवाई में रामलला, हिंदू महासभा, निर्मोही अखाड़ा समेत अन्य हिंदू पक्षकारो ने अपनी बहस पूरी कर ली है। अब मस्लिम पक्ष अपनी दलीले रख रहा है।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.