Press "Enter" to skip to content

कोरोना से ठीक होने वाले 99.52 लाख के पार पहुंचे,पिछले 24 घंटे में दर्ज किए गए 21,154 नए मामले

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमितों की दैनिक संख्या से कहीं ज्यादा कोरोना से संक्रमणमुक्त लोगों की संख्या बढ़ रही है। यानि देश में कोरोना को मात देकर ठीक होने वालों की संख्या तेजी के साथ बढ़कर 99.52 लाख के पार पहुंच गई। इसके साथ ही कोरोना से ठीक होने वालों की राष्ट्रीय दर बढ़कर 96.19 प्रतिशत से भी ज्यादा हो गई।भारत में लगातार कोविड-19 के नए मामलों के साथ इसकी वजह से मरने वालों में भी तेजी से कमी आ रही है। पिछले 24 घंटे में आए 21,154 नए संक्रमण के मामलों के साथ देश में सोमवार शाम सवा छह बजे तक संक्रमितों का कुल आंकड़ा 1,03,45,118 तक पहुंच गया है। जबकि इसमें से 99,52,548 ऐसे लोग हैं, जो कोरोना को मात देकर स्वस्थ्य हो चुके हैं। मसलन अब अस्पतालों में इलाज करा रहे सक्रिय मरीजों की संख्या घटकर 2,38,604 यानि 2.36 प्रतिशत रह गई है। देश में लगातार 14 दिनों से कोविड-19 के उपचाराधीन मामलों की संख्या तीन लाख से कम है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार देश में एक दिन में कोविड-19 के 21,154 नए मामले सामने आए। जबकि इस दौरान 286 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,49, 721 हो गई। देश में कोविड-19 से मृत्यु दर 1.45 प्रतिशत है। आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में जिन 286  लोगों की मौत हुई, उनमें से महाराष्ट्र के 35, पश्चिम बंगाल के 26, केरल के 25, उत्तर प्रदेश के 16 और दिल्ली, छत्तीसगढ़ तथा मध्यप्रदेश के 14-14 लोग थे। मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार देश में वायरस से कुल 1,49,721 लोगों की मौत हुई है, जिनमें से महाराष्ट्र के 49,666, तमिलनाडु के 12,156, कर्नाटक के 12,107, दिल्ली के 10,585, पश्चिम बंगाल के 9,792, उत्तर प्रदेश के 8,403, आंध्र प्रदेश के 7,115 और पंजाब के 5,376 लोग थे।

मंत्रालय के अनुसार भारत में सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख के पार चली गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्तूबर को 70 लाख, 29 अक्तूबर को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर को एक करोड़ के पार चले गए थे। भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार तीन जनवरी तक कुल 17,56,35,761 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई, जिनमें से 7,35,978 नमूनों की जांच रविवार को की गई। मंत्रालय ने कहा, ‘पिछले 11 दिनों में एक करोड़ नमूनों की जांच की गई है। अधिक जांच करने के साथ ही नमूनों के संक्रमित पाए जाने की दर गिरकर 5.89 प्रतिशत हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि अभी तक जिन लोगों की मौत हुई, उनमें से 70 प्रतिशत से ज्यादा मामलों में मरीजों को अन्य बीमारियां भी थीं। मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर बताया कि उसके आंकड़ों का आईसीएमआर के आंकड़ों के साथ मिलान किया जा रहा है।

कोरोना के नए स्ट्रेन से 38 संक्रमित-ब्रिटेन में सामने आए कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से संक्रमित होने वाले मामलों की भारत में संख्या 38 हो गई है। मंत्रालय के अनुसार नए स्ट्रेन से संक्रमित इन 38 मामलों में से आठ नमूनों की पहचान नई दिल्ली स्थित नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल में, 11 की पहचान दिल्ली के जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी में और एक की पहचान कोलकाता के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोमेडिकल जीनोमिक्स में हुई। इसके अलावा पांच नमूनों की पहचान पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) में, तीन की हैदराबाद के सेलुलर एंड मॉलीक्यूलर बायोलॉजी में और 10 नमूनों की पहचान बंगलूरू स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरो साइंसेज हॉस्पिटल (एनआईएमएचएएनएस में हुई। ब्रिटेन का कहना है कि वायरस का यह नया प्रकार पहले के मुकाबले 70 फीसदी अधिक संक्रामक है। हालांकि वैज्ञानिकों का मानना है कि मौजूदा वैक्सीन इस नए वायरस पर भी असरदार रहेगी। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से संक्रमित पाए गए इन सभी मरीजों को संबंधित राज्य सरकारों की ओर से निर्धारित चिकित्सा केंद्रों में अकेले कमरे में पृथकवास में रखा गया है। मरीजों के करीबियों को भी क्वारंटीन किया गया है। मंत्रालय ने कहा कि इन लोगों के सहयात्रियों, परिजनों और अन्य संबंधियों की सघन ट्रेसिंग की शुरुआत कर दी गई है।

कई राज्यों में आज से खुल गए स्कूल-कॉलेज-सोमवार से कई महीनों के अंतराल के बाद कई राज्यों में स्कूल-कॉलेज दोबारा खुलने शुरू हो गए हैं। स्कूलों को सुरक्षित तरीके से दोबारा खोलने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। मास्क का उपयोग अनिवार्य किया गया है। यह फैसला लंबे समय से महामारी के कारण 2020-21 शैक्षणिक सत्र की बाधित गतिविधियों और पाठ्यक्रम पूरा करने के लिए लिया गया है। केरल और कर्नाटक में जहां कई स्कूल एक जनवरी को ही खुल गए थे, बिहार और पुडुचेरी में आज से स्कूल दोबारा खोले गए। बिहार के स्कूलो में 50 फीसदी उपस्थिति के साथ नौवीं से 12वीं की कक्षाएं चलाई जा रही हैं वहीं कॉलेजों में अंतिम वर्ष की कक्षाएं शूरू की गई हैं। उल्लेखनी है कि बिहार में स्कूली बच्चों को दो-दो मास्क वितरित करने का फैसला भी किया गया है।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.