Press "Enter" to skip to content

सड़क सुरक्षा सप्ताह 17 जून से, महंगी पड़ेगी यातायात नियमों की अनदेखी

लखनऊ- प्रदेश सरकार सड़क दुर्घटनाओं में आमजन को बचाने के लिए सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन करने जा रही है। पूरे उत्तर प्रदेश में सड़क सुरक्षा सप्ताह 17 से 22 जून तक चलेगा। इस दौरान आमजन को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक किया जाएगा।

देश में प्रतिवर्ष लगभग डेढ़ लाख लोगों की सड़क दुर्घटनाओं में मृृत्यु होती है। गत वर्ष सड़क हादसों में सबसे अधिक मौतें उप्र में हुई थीं। इसलिए सरकार दुघर्टनाएं रोकने व उससे होने वाले नुकसान से बचाने की कोशिश में जुटी है। इसी कड़ी में सरकार ने प्रदेश में सड़क सुरक्षा सप्ताह व्यापक रूप से मनाने का निर्णय लिया है। इसके लिए सभी अधिकारियों को विस्तृत दिशा-निर्देश भेज दिए गए हैं।

ये होंगे कार्यक्रम
1. जिला व मंडल स्तर पर सड़क सुरक्षा से जुड़ी कार्यशाला।
2. भारी व्यावसायिक वाहन चालकों का स्वास्थ्य परीक्षण।
3. हेलमेट और सीट बेल्ट के बारे में जागरूक करना।
4. साइकिल रैली, बाइक रैली और पद यात्रा का आयोजन।
5. सड़क दुघर्टनाओं में मृृत व्यक्तियों की स्मृृति में कैंडिल मार्च।
6. नुक्कड़ नाटक के जरिये सड़क सुरक्षा के नियमों का प्रचार-प्रसार।

इस तरह चलेगा अभियान:
1. सीटबेल्ट व हेलमेट नहीं लगाने वालों पर कार्रवाई।
2. ओवर स्पीडिंग, रेड लाइट जंपिंग करने वालों के खिलाफ कार्रवाई।
3. वाहन चलाते समय मोबाइल फोन व इयरफोन का प्रयोग करने वालों के खिलाफ अभियान।
4. नशे की हालत में गाड़ी चलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई।
5. ओवर लोडिंग करने वाले यात्री वाहनों के खिलाफ अभियान।
6. वाहनों में सेफ्टी डिवाइस जैसे-साइड मिरर, इंडीकेटर व व्यवसायिक वाहनों में रेट्रो-रिफ्लेक्टिव टेप की होगी जांच।
7. व्यावसायिक वाहनों में फिटनेस, परमिट व प्रदूषण की जांच।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.