Press "Enter" to skip to content

श्री राम काॅलेज ऑफ लाॅ में ‘‘भारत में महिला सशक्तिकरण’’ विषय पर गोष्ठी

मुजफ्फरनगर। श्री राम काॅलेज ऑफ लाॅ में विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वाधान में ‘‘भारत में महिला सशक्तिकरण’’ विषय पर एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी में मुकीम अहमद, सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने विशिष्ठ अतिथि के रूप में शिरकत की। समाज सेवी ज्ञानी गुरूवचन सिंह भी अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। कार्यक्रम की शुरूआत पारम्परिक रूप से अतिथियों द्वारा दीप प्रवज्जलित कर की गई।

श्रीराम काॅलेज ऑफ लाॅ के प्राचार्य डाॅ0 रविन्द्र प्रताप सिंह ने विशिष्ठ अतिथि को फूलो का गुलदस्ता देकर उनका स्वागत किया। विशिष्ठ अतिथि मुकीम अहमद, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, ने विधिक सेवा प्राधिकरण की कार्यप्रणाली और उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुऐ कहा कि किस प्रकार विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा समाज के असक्षम एवं निर्बल वर्ग को विधिक सहायता प्रदान की जा रहीं है। इनके द्वारा विद्यार्थियों को भी व्यवहारिक कानून के विषय में भी बताया गया। इन्होने गोष्ठी के विषय पर बोलते हुए कहा कि महिलाओ के अधिकार हेतु सरकार द्वारा विभिन्न प्रयास किये जा रहे है, एवं महिलाएं भी अधिकारों के प्रति जागरूक हो रही है. परन्तु इस सबके वाबजूद स्थिति विपरीत बनी हुई है, महिलाओ के प्रति अपराधों में लगातार इजाफा हुआ है। अतः आवश्यकता इस बात की है कि महिलाओ को अधिकारों की जानकारी होनी चाहिए। प्राथमिक स्तर पर उन्हें शिक्षित किया जाना जरुरी है। आर्थिक स्वतंत्रता तथा क़ानून एवं धर्म के अधीन महिलाओं को अधिकारों की जानकारी दी जानी चाहिए तथा उन्हें सरकार के हर स्तर पर उपयुक्त भागीदारी मिलनी चाहिए।

विधि विभाग की विभागाध्यक्षा पूनम शर्मा ने सेमिनार का उददेश्य बताते हुए कहा कि आज का विषय महिला सशक्तिकरण पर आधारित है और यह आज भारत का ज्वलंत विषय है। छात्र विश्वजीत राना ने कहा कि लड़कियों को शिक्षित किया जाना चाहिए जिससे वह अपने निर्णय स्वयं ले सके और अपने अधिकारो के प्रति जागरूक हो सके। छात्रा शबनूर ने कहा कि महिलायें स्वयं आत्मनिर्भर बने और इतिहास में महिलाओं के योगदान के विषय में बताया। छात्रा सुरभि सिंह ने डाॅ अम्बेडकर के कथन को दोहराते हुऐ कहा कि नारी के बिना संसार की कल्पना नही की जा सकती है इसलिये भारत में महिलाओं को देवी के रूप मे भी मान्यता प्राप्त है। छात्र शशांक अग्रवाल ने महिला सशक्तिकरण को इंगित करते हुऐ कहा कि आज नारी समस्त क्षेत्र में अग्रणी होकर भारत का नाम रोशन कर रही है।

छात्रा दिव्या सिंघल ने नारी के अस्तित्व को आज के परिप्रेक्ष्य में बताते हुऐ कहा कि नारी को आज भी हर एक क्षेत्र में समानता का अधिकार नही मिल पाया है कुछ कानून है जो आज भी बदले जाने आवश्यक है। कार्यक्रम के अन्त में श्री राम काॅलेज आॅफ लाॅ के प्राचार्य डा0 रविन्द्र प्रताप सिंह के  द्वारा इस आयोजन के लिये सभी विद्यार्थियों को बधाई दी गई एवं अतिथियों का धन्यवाद किया। मंच का संचालन विधि विभाग की प्रवक्ता आँचल अग्रवाल ने किया। विभागाध्यक्षा पूनम शर्मा एवं विधि विभाग के प्रवक्तागण संजीव कुमार, सोनिया गौड, प्रशान्त चैहान, आँचल अग्रवाल, सबिया खान, राखी ढिलोर, लक्की रानी, रीतू का सराहनीय योगदान रहा एवं नेहा धीमान व सचिन भी उपस्थित रहें।

More from खबरMore posts in खबर »
More from शहरनामाMore posts in शहरनामा »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.