Press "Enter" to skip to content

प्यार और आशा की रोशनी जगाते हैं गायक सत्यम आनंदजी

मुम्बई।(अनिल बेेदाग) जहाँ सारी दुनिया एक मायूसी के आलम में डूबी हुई है, वहीं सत्यम आनंदजी ने अपनी जादू भरी आवाज़ से सबके मन में प्यार और आशा की रोशनी जगाने का सुंदर प्रयास किया है। इन दिनों विभिन्न एनजीओ और भारतीय फॉउण्डेशंस कलाकारों को मंच प्रदान कर रहे हैं। उनमें से ऑनलाइन मीडिया में धूम मचाने वाले, बिहार में जन्में, वहीं  पले-बढ़े और शिक्षित हुए, मुंबई में रहने वाले भजन और ग़ज़ल गायक व संगीतकार सत्यम आनंदजी अपनी गायकी से सभी को मनमोहित कर रहे हैं। अपने गुरु अनूप जलोटा से गायिकी की बारीकियां सीखते हुए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित और प्रसिद्ध गायक व संगीतकार के रूप में सत्यम आनंदजी अपनी मधुर आवाज का जादू दुनिया भर में  फैला रहे हैं।  सत्यम आनंदजी के शोज़ काफी देशों में भी होते रहते हैं। इस लॉकडाउन के कारन ऑनलाइन मीडिया द्वारा इवेंट्स और शो का प्रचलन अधिक बढ़ गया है। फेसबुक, यूट्यूब, इंस्टाग्राम जैसे प्लॅटफॉम पर आज सत्यम आनंदजी देश, विदेश में गाते और सभी का मनोरंजन करते सुनाई और दिखाई देते हैं।
श्रोताओं की मांग बढ़ने के कारण सत्यम आनंदजी आज अपने फेसबुक पेज और यूट्यूब चॅनेल से प्रति दिन ऑनलाइन इवेंट्स और परफोरमेंस कर रहे हैं। उन्होंने  ‘युअर च्वॉयस, माई च्वॉयस’ के नाम से एक कार्यक्रम की शुरुआत की है।  इसके ज़रिये सत्यम आनंदजी के सारे प्रशंसक उनको अपने गीत, ग़ज़ल और भजन सुनाने का आग्रह भेज सकते हैं और उनके संगीत के साथ जुड़ सकते हैं। आज के परिवेश में अलग अलग एनजीओ और फाउंडेशन, कविता, गीत, गजल के क्षेत्र के साथ सामाजिक और सार्वजनिक हित के कार्यों के साथ-साथ हर क्षेत्र में सम्भव मदद करती हैं। सत्यम आनंदजी ने ऐसी बहुत सारी संस्था के साथ, छपरा, बेगुसराई, सीतामणी, लखनऊ, दिल्ली, मुंबई, से लेकर कनाडा, अमरीका, और लंदन में अपनी  मधुर और आकर्षक आवाज के साथ सभी को आनंदित कर दिया है।

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.