Press "Enter" to skip to content

सोनिया और राहुल ने भी दिया अपनी पार्टी को चंदा, अचानक फिर बढ़ने लगी कांग्रेस की आमदनी

नई दिल्ली। केंद्रीय चुनाव आयोग को सौंपे गये आय-व्यय के ब्यौरे के मुताबिक पिछले वित्तीय वर्ष कांग्रेस को मिलने वाले चंदे में पांच से भी ज्यादा गुना इजाफा हुआ है। खासबात है कि इस चंदे में खुद सोनिया गांधी और राहुल गांधी के अलावा कपिल सिब्बल, नवजोत संह सिद्धू व उनकी पत्नी, मनीष तिवारी व पवन बंसल ने भी दान के रूप में पार्टी के खाते में रकम जमा कराई है।

चुनाव आयोग को कांग्रेस पार्टी ने वित्तवर्ष 2018-19 के आय-व्यय का ब्यौरा 30 अगस्त को सौंपा है। इसमें सोनिया गांधी व राहुल गांधी ने 54-54 हजार रुपये का दान दिया है, जबकि कपिल सिब्बल ने दो लाख रुपये पार्टी कोष में जमा कराए हैं। जबकि अन्य कांग्रेस नेताओं ने 35-35 हजार रुपये का चंद अपनी पार्टी के खाते में जमा कराया है। कांग्रेस नेताओं के अलावा चुनावी ट्रस्ट, कंपनियों और निजी व्यक्तियों के जरिए चंदे के रूप में कांग्रेस पार्टी ने 146 करोड़ रुपये का दान घोषित किया है, जबकि वर्ष 2017-18 के दौरान कांग्रेस पार्टी केवल 26 करोड़ रुपये का ही चंदा जुटाने का दावा कर पायी थी।

यहां से मिला चंदा
कांग्रेस पार्टी द्वारा चुनाव आयोग को सौंपे के गये आय-व्यय के ब्यौरे में घोषित 146 करोड़ रुपये के चंदे की राशि में सर्वाधिक 98 करोड़ रुपये चुनावी ट्रस्ट से जुटाए गये हैं, जिनमें । इन ट्रस्टों में टाटा ग्रुप के प्रोग्रेसिव इलेक्ट्रोल ट्रस्ट ने सबसे ज्यादा 55 करोड़ रुपये, प्रूडेंड इलेक्ट्रोल ट्रस्ट ने 39 करोड़ रुपये तथा आदित्य बिड़ला जनरल ट्रस्ट और समाज ने 2-2 करोड़ रुपये का चंदा कांग्रेस पार्टी का दिया है। निजी तौर पर कांग्रेस को चंदा देने वालों में बैंगलुरु निवासी फॉजिया खान ने 4.4 करोड़ रुपये, कांग्रेस नेता एचए इकबाल हुसैन ने 3 करोड़ रुपये, मार्टिन पिंटो ने एक करोड़ रुपये, मणिपाल ग्रुप ने 35 लाख रुपये का कांग्रेस को दान दिया है।

भाजपा का नहीं आया हिसाब
भाजपा ने अभी नहीं दिया है हिसाब बीजेपी ने 2018-19 के डोनेशन का हिसाब अभी तक नहीं दिया है, लेकिन 2017-18 के आंकड़े बताते हैं कि सत्ताधारी पार्टी और विपक्ष के बीच दान की राशि में बहुत बड़ा अंतर रहता है। तब पार्टी ने चंदों से 1,027 करोड़ रुपये जुटाए थे और 758 करोड़ रुपये के खर्च का हिसाब दिखाया था। तब पार्टी को प्रूडेंट इलेक्ट्रोल ट्रस्ट ने 140 करोड़ रुपये का दान दिया था और इलेक्ट्रोल बॉन्ड्स से मिले 945 से ज्यादा डोनेशन भी पार्टी के खाते में गए थे। इस समय कांग्रेस के अलावा सिर्फ बीएसपी ही ऐसी राष्ट्रीय पार्टी है, जिसने अपने डोनेशन का हिसाब चुनाव आयोग में जमा किया है, जिसमें पार्टी ने बताया है कि उसे 20,000 रुपये से ज्यादा का कोई दान ही नहीं मिला।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.