Press "Enter" to skip to content

पंचतत्व में विलीन हुए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, राष्ट्रपति, पीएम ने दी भावभीन श्रद्धांजलि

नई दिल्ली। राजनीति के अजातशत्रु और देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी मंगलवार को पंचत्तव में विलीन हो गए हैं। उनके बेटे और कांग्रेस नेता अभिजीत मुखर्जी ने उन्हें मुखाग्नि दी। दिल्ली स्थित लोधी शमशान घाट में उनका अंतिम संस्कार किया गया।

इससे पहले उनके पार्थिव शरीर को 10, राजाजी मार्ग स्थित उनके सरकारी आवास पर लाया गया, जहां राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और तीनों सेनाओं के प्रमुखों सहित कई गणमान्य व्यक्तियों ने उनके अंतिम दर्शन करके श्रद्धांजलि अर्पित की। मोदी कैबिनेट ने भी उन्हें श्रद्धांजलि दी। बता दें कि पूर्व राष्ट्रपति 10 अगस्त को कोरोना संक्रमित पाए गए थे। जिसके बाद उन्हें दिल्ली कैंट स्थित सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहीं उन्होंने सोमवार को अंतिम सांस ली। प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने कहा कि उनकी उपस्थिति हमारे परिवार का सपोर्ट था, हम उसे हमेशा याद करेंगे। मुझे लगता है कि कोविड-19 उनकी मौत का मुख्य कारक नहीं था बल्कि मस्तिष्क ऑपरेशन था। मेरी योजना उन्हें पश्चिम बंगाल ले जाने की थी लेकिन मौजूदा प्रतिबंधों के कारण हम ऐसा नहीं कर सके।

राजकीय सम्मान के साथ हुआ पूर्व राष्ट्रपति का अंतिम संस्कार

देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जा रहा है। उनके बेटे अभिजीत मुखर्जी सहित परिवार के बाकी सदस्य पीपीई किट पहने हुए नजर आए। पूर्व राष्ट्रपति और राजनीति के अजातशत्रु कहे जाने वाले प्रणब मुखर्जी को गार्ड ऑफ ऑनर दिया जा रहा है। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के पार्थिव शरीर को उनके निवास स्थान, 10 राजाजी मार्ग, से लोधी स्थित शमशान घाट ले जाया जा रहा है। उनका सोमवार को सैन्य अस्पताल में निधन हो गया था। इससे पहले 10 अगस्त को वे कोरोना संक्रमित पाए गए थे।

 

यह भी पढ़ें–पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का निधन, सात का राजकीय शोक घोषित

More from खबरMore posts in खबर »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.