Press "Enter" to skip to content

फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में लगी अरुण जेटली की प्रतिमा,केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने किया प्रतिमा का अनावरण

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) के पूर्व अध्यक्ष दिवंगत अरुण जेटली की प्रतिमा का अरुण जेटली स्टेडियम में अनावरण किया। अमित शाह ने पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली की 68वीं जयंती पर उनकी प्रतिमा का अनावरण किया। इस मौके पर डीडीसीए के मौजूदा अध्यक्ष और अरुण जेटली के पुत्र रोहन जेटली तथा उनके परिवार के सदस्य मौजूद थे। अमित शाह ने इस अवसर पर अरुण जेटली के राजनीति और क्रिकेट प्रशासन में योगदान को याद करते हुए कहा कि उन्होंने देश के विकास के लिये लगातार काम किया था तथा अहम भूमिका निभाई था। इस अवसर पर अमित शाह ने अपने और अरुण जेटली के बीच के संबंधों के बारे में भी बताया। शाह ने अरुण जेटली को अपना बड़ा भाई बताते हुए कहा कि उन्होंने हर संकट के समय में उनकी मदद की। अमित शाह ने कहा कि अरुण जेटली मुझसे उम्र में बड़े थे। जब भी मुझपर कोई संकट आया तो लोगों ने मेरी मदद की। लेकिन अरुण जेटली हर समय एक बड़े भाई की तरह मेरे साथ रहे और किसी भी संकट से बाहर निकाला। शाह ने आगे कहा कि जेटली ने एक मजबूत आईपीएल को खड़ा किया। हजारों युवाओं को क्रिकेट के लिए तैयार किया। उनके पास सभी सवालों के सटीक जवाब थे।

केंद्रीय गृह मंत्री शाह ने जेटली की प्रतिमा का अनावरण करते हुए कहा कि एक लोग वे होते हैं जो खेलते हैं और दूसरे लोग वे होते हैं, जो क्रिकेट खेलने का माहौल बनाते हैं। उनका योगदान भी बहुत होता है। राजधानी के फिरोज शाह कोटला स्टेडियम का गत वर्ष नाम अरुण जेटली स्टेडियम रखा गया था। अमित शाह गत वर्ष जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम के हॉल में अरुण जेटली स्टेडियम का नाम रखे जाने के समय में हुए विशेष समारोह के विशेष अतिथि थे। अमित शाह अरुण जेटली की प्रतिमा का अनावरण किए जाने के समारोह में भी विशेष अतिथि थे। समारोह में शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी, केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू, वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली, भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष डॉ नरेंद्र ध्रुव बत्रा, बीसीसीआई के पूर्व कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना, बीसीसीआई के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला और डीडीसीए की कोषाध्यक्ष शशि खन्ना मौजूद थीं। अनावरण समारोह में पूर्व भारतीय क्रिकेटर सुरेंदर खन्ना और मदन लाल, पूर्व भारतीय क्रिकेटर और पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद गौतम गंभीर, भारतीय क्रिकेटर शिखर धवन, पूर्व भारतीय क्रिकेटर आरपी सिंह और सुरेश रैना, पूर्व चयनकर्ता शरणदीप सिंह, अंतर्राष्ट्रीय अम्पायर अनिल चौधरी, दिल्ली के क्रिकेटर परविंदर अवाना, रोबिन सिंह और डीडीसीए के पूर्व और मौजूदा पदाधिकारी उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के पिछले वर्ष निधन के बाद डीडीसीए ने पिछले वर्ष ही स्टेडियम का नाम बदलने का फैसला किया था। अरुण जेटली 14 साल तक डीडीसीए के अध्यक्ष रहे थे, वहीं अब उनके बेटे रोहन जेटली डीडीसीए के अध्यक्ष हैं। हालांकि पूर्व भारतीय कप्तान बिशन सिंह बेदी ने अरुण जेटली स्टेडियम में अरुण जेटली की प्रतिमा स्थापित करने का विरोध करते हुए डीडीसीए के अध्यक्ष और अरुण जेटली के पुत्र रोहन जेटली को पत्र लिख कर कहा था कि फिरोज शाह कोटला के एक स्टैंड से उनका नाम हटा दिया जाये और साथ ही वह डीडीसीए की प्राथमिक सदस्य्ता से इस्तीफा दे रहे हैं। लेकिन स्टेडियम के एक स्टैंड पर बिशन ङ्क्षसह बेदी का नाम अभी पहले की तरह मौजूद है।

More from देश प्रदेशMore posts in देश प्रदेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.