Press "Enter" to skip to content

महात्मा गांधी की विरासत को संजोने में खादी ग्रामोद्योग की अहम भूमिकाः नायडू

नई दिल्ली।
उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने महात्मा गांधी की विरासत और खादी की परंपरा को पीढ़ी दर पीढ़ी आगे बढ़ाने में खादी ग्रामोद्योग की भूमिका को सराहनीय बताया है।
नायडू ने शनिवार को दिल्ली में स्थित खादी भवन का दौरा कर कहा कि खादी के उत्पाद पर्यावरण हितैषी होने के साथ कृत्रिम फाइबर का विकल्प भी मुहैया कराते हैं। खादी से ग्रामीण स्तर पर सामाजिक उद्यमिता के माध्यम से स्थानीय कामगारों खासकर महिलाओं के हुनर को बढ़ावा मिलता है। इस क्रम में खादी भारतीय वस्त्र एवं अन्य उत्पादों के क्षेत्र में सामाजिक बदलाव का प्रभावी हथियार साबित हुआ है। उन्होंने इसके लिये खादी ग्रामोद्योग के प्रयासों को सराहनीय बताते हुये कहा कि इसकी बदौलत खादी उत्पाद युवाओं के भी चहेते बन गये हैं। नायडू ने ट्वीटर पर भी कहा, ‘‘महात्मा गांधी के लिये खादी सिर्फ बुनाई का माध्यम मात्र नहीं थी, बल्कि एक क्रांतिकारी विचार था। एक तरफ खादी उपनिवेशवाद से मुक्ति का प्रतीक बनी वहीं दूसरी ओर यह आत्म निर्भरता और आर्थिक स्वाबलंबन का भी प्रतीक है। यह राष्ट्रीय एकता, देशभक्ति और सांप्रदायिक सौहार्द का जीता जागता प्रमाण है। उन्होंने 150वीं गांधी जयंती पर वर्ष भर चलने वाले कार्यक्रमों का जिक्र करते हुये कहा कि वह खादी ग्रामोद्योग की पहचान बने खादी भवन का दौरा कर अभिभूत हैं।

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.