Press "Enter" to skip to content

बढ़े जुर्माने के विरोध में ट्रांसपोर्ट व्यापारियों ने दी चक्का जाम की धमकी

नई दिल्ली। नए मोटर व्हीकल एक्ट के लागू होने के बाद ट्रांसपोर्ट व्यापारियों ने सराकर के सामने कुछ मांगे रखी हैं। व्यापारियों का कहना है कि अगर सरकार ने उनकी मांगे नहीं मांगी तो 19 सितंबर को पूरी दिल्ली में चक्का जाम करेंगे।

देशभर में हाल ही में लागू हुए मोटर व्हाकल एक्ट का देश के कई हिस्सों में विरोध भी हो रहा हैइस विरोध में ट्रांसपोर्ट व्यापारी भी शामिल हो गए हैं। ट्रांसपोर्ट व्यापारियों का कहना है कि अब सवाल उनकी जिंदगी का आ गया हैउनके घरों के चूल्हे बुझने की कगार पर हैं। लिहाजा अगर सरकार उनकी मांगों को नहीं मानती है तो वे 19 सितम्बर को पूरी दिल्ली में चक्का जाम करेंगे। ट्रांसपोर्ट व्यापारियों के संगठन यूनाइटेड फ्रंट ऑफ ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने 6 सितम्बर को परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को भी ज्ञापन सौंपकर राहत की मांग की थी.

व्यापारियों का कहना है कि इस पर अभी तक कोई एक्शन नहीं हुआ है। इसके साथ ही यूनाइटेड फ्रंट ऑफ ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने मोटर व्हाकल एक्ट को लेकर कुछ सुझाव भी सरकार के सामने रखें हैं। व्यापारियों का कहना है कि चालान का अधिकार सिर्फ एसीपी और एसडीएम स्तर के अधिकारियों को हो जिससे कानून का दुरुपयोग ना हो।

व्यापिरयों ने कहा कि विदेशी जुर्माने की तरह सिर्फ राशि न बढ़ाना नहीं बल्कि सुविधाएं भी मुहैया कराना और साइंटिफिक एविडेंस की ओर भी सरकार ध्यान दे। व्यापिरियों ने अपनी समस्या बताते हुए कहा कि चालान की दर ज्यादा होने की वजह से ड्राइवर भी नौकरियां छोड़ कर जा रहे हैं. गौरतलब है कि नए मोटर व्हीकल एक्ट के लागू होने के बाद ट्रांसपोर्ट व्यापार पर इसका नकारात्मक असर लगातार देखने को मिल रहा है।

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.